मुख्यमंत्री आवास घेरने से पहले हिरासत में लिए गए यूथ कांग्रेस कार्यकर्ता, UP सरकार पर लगाए ये आरोप

लखनऊ, 23 सितम्बर. उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रदेश कार्यालय पर सोमवार को यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.वी. श्रीनिवास और प्रदेश अध्यक्ष दीपांकर सिंह के नेतृत्व में बेरोजगारी दूर करने, कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने, बढ़ते पेट्रोल के दाम पर रोकथाम आदि मांगों को लेकर सभा की गई.

इसके बाद यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता मुख्यमंत्री आवास को घेरने के लिए निकले ही थे, तभी हजरतगंज थाने की पुलिस के जवानों ने उन्हें रोककर हिरासत में ले लिया.

इससे पूर्व में यूथ कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष बी.वी. श्रीनिवास ने सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में सबसे ज्यादा बेरोजगारी है. इसकी वजह रोजगार सृजन ना होना है.

प्रदेश सरकार को ढाई वर्ष बीत चुके है. इनके पास कोई भी योजना युवाओं के लिए नहीं है. प्रदेश के युवा अपने भविष्य को लेकर चिंतित है.

उन्होंने कहा कि रोजगार के रास्तों को बंद कर दिया गया है और आउटसोर्सिंग व्यवस्था से सरकारी व गैरसरकारी कार्य पूरे किए जा रहे हैं.

इससे बेरोजगारी की समस्या कुछ समय के लिए दूर हो रही है और फिर से बनी रह जा रही है. उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में कानून व्यवस्था ध्वस्त है. अपराध अनियंत्रित है.

कानून व्यवस्था के नाम पर धन उगाही हो रही है. दूसरे पार्टी के नेता व कार्यकर्ता तो आये दिन इसके शिकार बन रहे हैं. राजधानी के कैण्ट विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस के कार्यकर्ता दीपू वर्मा की गोली मारकर हत्या कर दी गई.

इतनी बड़ी घटना के बाद पुलिस की निष्क्रियता सामने आई, जब यूथ कांग्रेस के प्रदर्शन के बाद पुलिस सक्रिय हुई.

उन्होंने मांग करते हुए कहा कि कांग्रेस कार्यकर्ता दीपू की हत्या के बाद आरोपियों को बचाने का प्रयास करने वाली महिला एसएचओ को प्रदेश सरकार तत्काल निलंबित करें. घटना की पुन: जांचकर उचित कार्रवाई हो.

हजरतगंज थाना निरीक्षक राधारमण ने कहा कि मुख्यमंत्री आवास घेरने की सूचना पर पुलिस अलर्ट थी. कांग्रेस के यूथ कार्यकर्ताओं को प्रदेश कार्यालय के बाहर ही रोक लिया गया और हिरासत में लेकर यूको गार्डन भेज दिया गया. जहां कुछ समय के बाद उनको छोड़ दिया जाएगा. हिन्दुस्थान समाचार/शरद

Leave a Comment

%d bloggers like this: