लद्दाख के इस युवा सांसद ने की सबकी बोलती बंद

भारतीय जनता पार्टी की अगुवाई वाली केन्द्र सरकार ने सोमवार को ऐतिहासिक फैसला लेते हुए जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वाले अनुच्छेद 370 को खत्म कर दिया है. बीजेपी ने अपने चुनावी घोषणा पत्र के सबसे अहम वादे को पूरा किया है. 370 के खंड ए को छोड़कर बाकी सभी खंडों को समाप्त करने का ऐलान किया गया है.

जम्मू और कश्मीर के लोगों को इस दिन का एक अरसे से इंतजार था, लिहाजा जैसे ही यह खुशखबरी मिली जम्मू और कश्मीरवासियों के चेहरे खिल उठे. संसद में भी जम्मू कश्मीर के जनप्रतिनिधियों ने खुलकर इस फैसले का स्वागत किया.

जम्मू-कश्मीर की लद्दाख लोकसभा सीट से चुनकर संसद पहुंचे जम्यांग टसरिंग नामग्याल ने संसद में भाषण के दौरान विपक्षी पार्टीयों की हवा निकाल कर रख दी.

[youtube https://www.youtube.com/watch?v=DuMB0ihncUk&w=1019&h=573]

नामग्याल ने सबसे पहले सभापती को धन्यवाद दिया. उनहोने कहा की धारा 370 जम्मू कश्मीर और वहां की जनता के लिए काला धब्बा था, ये गलती नेहरु जी के लिडरशीप में कॉग्रेस ने किया था उसको आज सुधारा जा रहा है. और हम सब इसका स्वागत करते हैं

पूरी चर्चा को मैने अच्छी तरह से सुना लोगों ने कई बार लद्दाख,लेह, और कार्गील का ज़िक्र किया. क्या वाकई में वो लोग लद्दाख को जानते हैं 71 सालो में आज तक लद्दाख को अपनाया नहीं और कहा की वो एक जमीन का टुकड़ा है वहां एक घास का टुकड़ा तक नहीं उगता है.

विपक्षीयों की इन्ही बोतों को ध्यान दिलाते हुए वे विपक्ष पर जमकर बरसे. नामग्याल ने कहा क्या ये विपक्ष लद्दाख की भाषा, खान पान,रहन सहन के बारे में जानते हैं या सिर्फ किताबी ज्ञान बांटते रहते हैं.

उन्होने याद दिलाया की लद्दाख ने पिछले 71 साल तक (U.T) के लिए संघर्ष किया है.हमारी भाषा 370 और कॉंग्रेस की वजह से लुप्त हो गई थी.

नामग्याल अपने भापण में जमकर विपक्षी नेतोओं को धोया.उनके इस भाषण के दौरान अमित शाह ने जमकर तालियां बजाकर उनके भाषण को सराहा.

हालांकी नामग्याल के भाषण के दौरान विपक्षीयों ने पहले तो जमकर हंगामा काटा लेकिन बाद में भाषण के दौरान कोई भी बोल नही सका. और पूरा विपक्ष शांती से नामग्याल को सुनता नज़र आया.

Leave a Reply