Yes Bank का लगातार हो रहा भारी नुकसान,नहीं थम रहा शेयर में गिरावट का सिलसिला
  • आज शेयर बाजार के शुरुआती कारोबार में यस बैंक के शेयर करीब 3 फीसदी तक टूट गए
  • विदेशी ब्रोकरेज हाउस UBS ने यस बैंक के शेयर की रेटिंग डाउनग्रेड कर दी है

नई दिल्ली. सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन यस बैंक को भारी नुकसान उठाना पड़ा है.आज शेयर बाजार के शुरुआती कारोबार में यस बैंक के शेयर करीब 3 फीसदी तक टूट गए. दरअसल, विदेशी ब्रोकरेज हाउस UBS ने यस बैंक के शेयर की रेटिंग डाउनग्रेड कर दी है.

लगातार नीचे गिर रहे हैं यस बैंक के शेयर-

ब्रोकरेज ने बैंक के शेयर में बिकवाली की सलाह देते हुए इसका लक्ष्य 90 रुपये कर दिया है जो पहले 170 रुपये था. यानी लक्ष्य में 47 फीसदी की कमी. इससे पहले गुरुवार को भी UBS की रिपोर्ट का असर शेयर बाजार पर दिखा. बता दें कि सेंसेक्स में यस बैंक 12.96 फीसदी की गिरावट के साथ बंद हुए थे.

गुरूवार को भी यस बैंक को भारी नुकसान उठाना पड़ा था.कल यानी गुरूवार के कारोबार में पहले सुबह यस बैंक के शेयर 6 फीसदी तक टूटे फिर दोपहर होते-होते 11 फीसदी तक टूट गए.इस गिरावट के बाद यस बैंक के शेयरों की कीमत 119 रुपए के स्तर पर आ गई थी. जो कि साढ़े चार साल की सबसे बड़ी गिरावट थी. बुधवार को भी बैंक के शेयर के भाव तीन फीसदी से ज्यादा लुढ़के थे.वहीं मूडीज ने लेंडर्स की रेटिंग को संभावित डाउनग्रेड के लिए रिव्यू की कैटेगरी में डाल दिया है, जिसका असर उसके शेयर पर दिख रहा है.

यस बैंक का बुरा दौर शुरू-

ये दौर यस बैंक के लिए काफी बुरा साबित हो रहा है. एक तरफ जहां लगातार यस बैंक के शेयरों में गिरावट देखने को मिल रही है. वहीं दूसरी ओर यस बैंक में बोर्ड निदेशकों के बीच का विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है.

बैंक के विवादों से पीछा न छुटने और पिछले वित्तीय वर्ष के नुकसान का असर शेयरों पर भी पड़ रहा है. इन विवादों के कारण पिछले दो सप्ताह में यस बैंक के शेयरों में लगभग 30 अंक की गिरावट दर्ज की गई है.

स्वतन्त्र डायरेक्टर ने दिया इस्तीफा-

यस बैंक के एक स्वतन्त्र डायरेक्टर ने इस्तीफा दे दिया है. पिछले दो दिन में दो इंडिपेंडेंट डायरेक्टर मुकेश सभरवाल और अजय कुमार ने इस्तीफा दे दिया है. राणा कपूर ने पिछले महीने बोर्ड में खुद को शामिल किए जाने की पेशकश की थी.

राणा कपूर ने मांगा था मुआवजा-

राणा कपूर ने बोर्ड से मुआवजे की भी मांग की थी लेकिन बोर्ड के सदस्य राणा कपूर की मांग पर बंटे नजर आए और आरबीआई के फैसले के उल्लंघन का हवाला देते हुए उनकी मांग को नकार दिया गया. तमाम विवादों के बीच यस बैंक के वित्तीय नतीजे भी प्रभावित हुए हैं. पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में येस बैंक को 1504 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था. बैंक की ओर से 100 करोड़ डॉलर जुटाने की योजना है, जिसके लिए पीई फर्म के साथ हिस्सा बिक्री पर भी बातचीत चल रही है.

ये है पूरा विवाद-

यस बैंक के साथ पिछले कुछ महीनों से कई इश्यू रहे हैं. हाल ही में बैंक के 2 इंडिपेंडेंट डायरेक्टर मुकेश सभरवाल, अजय कुमार ने इस्तीफा दे दिया है. राणा कपूर बोर्ड में वापसी करना चाहते हैं.राणा कपूर ने मई में चिट्टी लिखकर बोर्ड में सीट की मांग की, साथ में मुआवजे की भी मांग की. लेकिन बोर्ड ने राणा कपूर की मांग को RBI के फैसले के उल्लंघन का हवाला देकर नकार दिया.

Trending Tags – Yes Bank | RBI | Business news | Economy News | Aaj ka Smachar

2 thoughts on “Yes Bank का लगातार हो रहा भारी नुकसान,नहीं थम रहा शेयर में गिरावट का सिलसिला”

Leave a Comment

%d bloggers like this: