WORLD MALARIA DAY : ये देश हैं सबसे ज्यादा पीड़ित
  • वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) वर्ल्ड मलेरिया डे का आयोजन करता है
  • इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य है कि इस बीमारी को जड़ से खत्म किया जा सके

आज विश्व भर में मलेरिया दिवस या मलेरिया डे मनाया जा रहा है. इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य है कि विश्व की 10 सबसे घातक बीमारियों में से एक मलेरिया को लेकर जागरूकता पैदा करना है.

मुख्य रूप से ये बीमारी लोगों में मच्छर के काटने से फैलती है. आमतौर पर ये बीमारी अफ्रीका, एशिया, मध्य और दक्षिण अमेरिका और मिडिल ईस्ट में रह रहे लोगों को अपनी चपेट में लेती है.

WHO करता है आयोजन

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइजेशन (WHO) वर्ल्ड मलेरिया डे का आयोजन करता है. इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य है कि इस बीमारी को जड़ से खत्म किया जा सके. इसके इलाज, बचाव और इसे खत्म करने के लिए हो रहे प्रयासों को लेकर जागरूकता फैलाना मुख्य उद्देश्य है.

Zero Malaria starts with me – इस साल की थीम

इस साल WHO ने थीम रखी है कि जीरो मलेरिया स्टार्ट्स विद मी. इसके जरिए मलेरिया जैसी घातक बीामरी को शून्य स्तर पर ले जाने का काम करना है. इस थीम का मुख्य उद्देश्य है कि लोग खुद ही इस बीमारी को दूर करने के उपायों को लेकर जागरूक हों. अपने स्तर पर इस बीमारी को खत्म करने के प्रयास किए जाएं.

WORLD HEMOPHILIA DAY : क्या है जानलेवा बीमारी हीमोफीलिया… जानें इसके बारे में यहां..

क्यों मनाते हैं Malaria Day

इस दिन को मनाने का कारण है कि मलेरिया को नियंत्रित किया जाए. इसके लिए किए जा रहे उपायों को भी विश्वस्तर पर मान्यता दी जाए. आंकड़ों के अनुसार विश्व के कुल 106 देशों में 3.3 बिलियन लोगों को मलेरिया का खतरा रहता है.

साल 2012 में सामने आए आंकड़ों पर नजर डालें तो सामने आया है कि मलेरिया से 627,000 बच्चों की मौत सिर्फ अफ्रीका में ही हुई थी. विश्व भर में यह आंकड़ा कितना अधिक होगा, इसका अनुमान लगाना भी मुश्किल है.

Trending Tags- News today, Aaj ka samachar, Malaria Day, World Health Organisation, Malaria, World Malaria Day 2019, Latest news,
News headlines

%d bloggers like this: