पाकिस्तानी तेज़ गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने टेस्ट क्रिकेट से लिया सन्यास

पाकिस्तान के तेज गेंदबाज मोहम्मद आमिर ने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की है. उन्होने यह फैसला इस लिए लिया की ताकी आमिर वनडे और टी-20 क्रिकेट में अपना फोकस कर सके. वह सीमित ओवरों के प्रारूप में खेलते रहेंगे. 27 साल के आमिर ने कहा कि वह पाकिस्तान के लिए व्हाइट बॉल क्रिकेट खेलना जारी रखेंगे.

शुक्रवार को जारी बयान में उन्होंने कहा कि खेल के ट्रेडिशनल फॉर्मेट में पाकिस्तान का प्रतिनिधित्व करना सम्मान की बात है. हालांकि, मैंने खेल के इस सबसे बड़े प्रारूप से दूर जाने का फैसला किया है, ताकि मैं व्हाइट बॉल क्रिकेट पर ध्यान केंद्रित कर सकूं.

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल और पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने आमिर के टेस्ट क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कि.

मोहम्मद आमिर ने 4 जुलाई 2009 को श्रीलंका के खिलाफ अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी. हालांकि टेस्ट क्रिकेट में उन्हें पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड ने ज्यादा मौके नहीं दिए. आमिर ने अपने करीब 10 साल के टेस्ट करियर में सिर्फ 36 टेस्ट मैच खेले और 119 विकेट चटकाए. आमिर ने अपने छोटे-से टेस्ट करियर की एक पारी में 4 बार 5 या इससे ज्यादा विकेट झटके.

आमिर ने आगे अपने बयान में कहा, “पाकिस्तान के लिए खेलना ही मेरा आखिरी उद्देश्य है, और मैं अगले साल होने वाले आईसीसी टी20 विश्व कप सहित टीम के लिए अगले सभी मैचों में योगदान देने के लिए अपनी बॉडी पर काम करूंगा और अपना बेस्ट देने की पूरी कोशिश करूंगा.

मेरे लिए संन्यास का निर्णय लेना आसान नहीं था. मैं इसको लेकर काफी समय से सोच रहा था. लेकिन जल्द ही ICC विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप शुरू हो रही है, और पाकिस्तान ने कुछ बहुत ही रोमांचक युवा तेज गेंदबाजों को तराशा है, इसलिए मेरे लिए यह उचित होगा कि मैं समय पर संन्यास लूं ताकि चयनकर्ता उसके अनुसार योजना बना सकें.”

भारतीय टीम के सेलेक्शन से क्यों खफा हुए सौरभ गांगुली,जानिए वजह


वेस्टइंडीज दौरे के लिए भारतीय टीम का ऐलान हो चुका है. इस बार कई युवा खिलाड़ियों को टीम में जगह दी गई है. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए चुनी गई वनडे टीम को लेकर बीसीसीआई से सवाल किया है.

सौरभ इस सेलेक्शन से खफा दिख रहे हैं. सौरभ गांगुली ने टॉप ऑर्डर बैट्समैन शुभमन गिल और अनुभवी बल्लेबाज अजिंक्य रहाणे को टीम में शामिल ना किए जाने पर सवाल उठाए हैं.


सौरव गांगुली ने बुधवार को कहा है कि वे हैरान हैं कि बैट्समैन शुभमन गिल और अजिंक्य रहाणे को वेस्टइंडीज के खिलाफ 3 मैचों की वनडे सीरीज के लिए टीम में शामिल क्यों नहीं किया गया है.

एक ट्वीट करते हुए सौरव गांगुली ने लिखा है, “इस टीम में कई ऐसे खिलाड़ी हैं, जो तीनों फॉर्मेट में खेल सकते हैं, हैरान हूं कि शुभमन गिल और अंजिक्य रहाणे को वनडे टीम में नहीं चुना गया.” सौरव गांगुली ने मांग की है कि सलेक्टर्स ऐसे खिलाड़ियों को चुनें जो तीन फॉर्मेट खेलकर आत्मविश्वास और लय हासिल कर सकें.


पहले ट्वीट के बाद दूसरे ट्वीट में सौरव गांगुली ने लिखा है, “समय आ गया है कि अब भारतीय सलेक्टर्स ऐसे खिलाड़ियों को टीम में चुने जो तीनों फॉर्मेट में खेलकर आत्मविश्वास और अपनी लय हासिल कर सकें. कुछ ही ऐसे खिलाड़ी हैं, जो तीनों फॉर्मेट में खेल रहे हैं.

महान टीम के लिए निरंतरता वाले खिलाड़ियों की जरूरत होती है. ये सभी को खुश नहीं कर सकती, लेकिन देश के लिए अच्छे खिलाड़ी चुनने में निरंतरता बरतनी चाहिए.”

क्रिकेट विश्व कप में न्यूज़ीलैंड से हारने के बाद सेमीफ़ाइनल से बाहर हुई टीम इंडिया अपना पहला मुक़ाबला वेस्ट इंडीज़ के साथ खेलेगी. मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद के नेतृत्व में चुनी गई टीम इंडिया वेस्ट इंडीज़ के साथ टी-20, वनडे और टेस्ट मैच खेलेगी. तीन अगस्त से शुरू हो रहे इस दौरे में तीन टी-20 फ़ॉर्मेट के मैच खेले जाएंगे.

वेस्ट इंडीज़में तीन वनडे मैच खेले जाने हैं और दो टेस्ट मैच. मैच के तीनों फ़ॉर्मेट के कप्तान विराट कोहली ही हैं और रोहित शर्मा टी-20 और वन डे में उप-कप्तान की भूमिका निभाएंगे. अजिंक्य रहाणे को टेस्ट टीम में उप-कप्तान की भूमिका सौंपी गई है.

वेस्ट इंडीज़ के दौरे के चुनी गई टीम

T-20 की टीम- विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप-कप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडेय, ऋषभ पंत (विकेट कीपर), क्रुणाल पांड्या, रविंद्र जडेजा, वॉशिंटन सुंदर, राहुल चाहर, भुवनेश्वर कुमार, ख़लील अहमद, दीपक चाहर, नवदीप सैनी.

वन डे की टीम- विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (उप-कप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडेय, ऋषभ पंत (विकेट कीपर), रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, केदार जाधव, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, ख़लील अहमद, नवदीप सैनी

टेस्ट टीम –विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे(उप-कप्तान), मयंक अग्रवाल, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, हनुमान विहारी, रोहित शर्मा, ऋषभ पंत विकेट कीपर), वृद्धिमान साहा (विकेट कीपर), रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा, कुलदीप यादव, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जयप्रीत बुमराह, उमेश यादव.

Happy Birthday yuzvendra chahal जानें चहल के बारे में कुछ ज़रुरी बातें

भले ही भारतीय क्रिकेट टीम विश्व कप जीतने में नाकाम रही हो, लेकिन विश्व कप 2019 में खिलाड़ियों ने कई रिकॉर्ड तोड़े हैं उन खिलाड़ियों में एक नाम युजवेंद्र चहल का भी है. इस युवा खिलाड़ी ने एक ऐसा रिकॉर्ड़ बनाया है जिसको आज तक कोई भी भारतीय गेंदबाज नहीं बाना पाया है.

लेग स्पिनर युजवेंद्र चहल एक मात्र भारतीय गेंदबाज हैं, जो टी20 क्रिकेट में एक पारी में 6 बल्लेबाजों को पवेलियन भेज चुके हैं. ये बात आज हम इसलिए कर रहे हैं क्योंकी आज चहल अपना 29वां जन्मदिन मना रहे हैं.


युजवेंद्र चहल ने ये कमाल फरवरी में किया था, लेकिन आज इस रिकॉर्ड की बात इसलिए क्योंकि आज इस लेग स्पिनर का जन्मदिन है. युजवेंद्र चहल 23 जुलाई 2019 को 29 साल के हो गए हैं. देश की राजधानी दिल्ली से सटे हरियाणा के जींद में 23 जुलाई 1990 को जन्मे युजवेंद्र चहल ने जनवरी 2016 में जिम्बाब्वे के खिलाफ वनडे और टी20 इंटरनेशनल डेब्यू किया था.


इतना ही नहीं, युजवेंद्र चहल दुनिया के पहले ऐसे स्पिनर हैं, जिन्होंने ऑस्ट्रेलिया में एक वनडे मैच में 6 विकेट लेने का विश्व रिकॉर्ड बनाया है. युजवेंद्र चहल ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ एमसीजी में 10 ओवर में 42 रन देकर 6 विकेट अपने नाम किेए थे. हालांकि, अजीत अगरकर भी ऑस्ट्रेलिया में 6 विकेट चटका चुके हैं, लेकिन वे तेज गेंदबाज थे.


युजवेंद्र, चहल टीवी के नाम से खुद अपना एक सोशल मीडिया चैनल चलाते हैं, जहां वे बेहद मजाकिया अंदाज में साथी खिलाड़ियों से हंसी-मजाक करते हुए उनका इंटरव्यू लेते पाए जा सकते हैं.

युजवेंद्र चहल शतरंज के अच्छे खिलाड़ी थे, लेकिन अब क्रिकेट में धूम मचा रहे है. चहल ने करीब 10 साल की उम्र में राष्ट्रीय स्तर पर खेलना शुरू कर दिया था, वहीं 13 साल की उम्र में उन्होंने ग्रीस में आयोजित जूनियर वर्ल्ड चेस चैंपियनशिप में देश का प्रतिनिधित्व किया.

इसके बाद मन बदल गया और उन्होंने क्रिकेट को ही अपनी दुनिया बनाने की ठान ली. शुरुआत अंडर-14 टीम में खेलकर की. उसके बाद अंडर-15, 16, 17, 19, 23 व 25 में अपनी प्रतिभा दिखाई.

चहल मानते हैं कि उनकी गुगली को धार देने में शतरंज का अहम योगदान है.उनके मुताबिक शतरंज ने उन्हे धैर्यवान और रणनीति बनाना सिखाया.शतरंज ने सामान्य तौर पर 15 से 16 चाल तक के बारे में पहले ही सोचना पड़ता है.

युजवेंद्र चहल से पहले श्रीलंकाई मिस्ट्री स्पिनर अजंता मेंडिस 2 बार 6-6 विकेट (एक बार 8 रन देकर और एक बार 16 रन देकर) टी20 क्रिकेट में चटका चुके हैं.

चहल ने अब तक 49 वनडे खेले हैं.इसमें उन्होने 26.35 की औसत से 84 विकेट लिए हैं.वे 31 टी-20 इंटरनेशनल मैच खेलकर 46 विकेट अपने नाम कर चुके हैं. उन्होने 11 जून 2016 को हरारे में जिम्बांब्वे के खिलाफ मैंच से वनडे में डेब्यू किया था.उन्होने टी-20 करियर की शुरुआत भी जिम्बांब्वे के खिलाफ मैच(18 जून 2016) से कि थी.

वेस्टइडीज दौरे के लिए भारतीय क्रिकेट टीम का ऐलान,जानिए किसको मिली जगह और कौन हुआ बाहर

वेस्टइडीज दौरे के लिए आज एम एस के प्रसाद की अध्यक्षता वाली कमेटी ने टीम का ऐलान कर दिया है. 3 अगस्त से शुरू हो रहे दौरे के लिए मुंबई में रविवार को अखिल भारतीय सीनियर चयन समिति ने टीम की घोषणा की. टीम की कमान एक बार फिर विराट कोहली के हाथ में है. वर्ल्ड कप 2019 के बाद टीम इंडिया का ये पहला दौरा है.

टीम में एमएस धोनी की जगह विकेटकीपर बल्लेबाज के तौर पर ऋषभ पंत को शामिल किया गया है. उपलब्ध नहीं रहेंगे, क्योंकि वह अगले 2 महीने पैरा सैन्य रेजिमेंट के साथ रहेंगे. वेस्टइंडीज दौरे में टीम इंडिया को तीन टी-20 इंटरनेशनल, तीन वनडे और दो टेस्ट मैच खेलने हैं.

टेस्ट मैचों की सीरीज अगस्त के पहले हफ्ते में शुरू होगी. टी20 सीरीज के पहले दो मुकाबले यूएसए के फ्लोरिडा में खेले जाएंगे.

वेस्टइंडीज दौरे पर T20 सीरीज के लिए टीम इंडिया

विराट कोहली(कप्तान), रोहित शर्मा(उपकप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, रिषभ पंत(विकेटकीपर), कृणाल पांड्या, रवींद्र जडेजा, वाशिंगटन सुंदर, राहुल चहर, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद, दीपक चहर और नवदीप सैनी.

वेस्टइंडीज दौरे पर वनडे सीरीज के लिए टीम इंडिया


विराट कोहली(कप्तान), रोहित शर्मा (उपकप्तान), शिखर धवन, केएल राहुल, श्रेयस अय्यर, मनीष पांडे, रिषभ पंत(विकेटकीपर), कृणाल पांड्या, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, युजवेंद्र चहल, केदार जाधव, मोहम्मद शमी, भुवनेश्वर कुमार, खलील अहमद और नवदीप सैनी.

वेस्टइंडीज दौरे पर टेस्ट सीरीज के लिए टीम इंडिया


विराट कोहली (कप्तान), अजिंक्य रहाणे(उपकप्तान), मयंक अग्रवाल, केएल राहुल, चेतेश्वर पुजारा, हनुमा विहारी, रोहित शर्मा, रिषभ पंत(विकेटकीपर), रिद्धिमान साहा(विकेटकीपर), आर अश्विन, रवींद्र जडेजा, कुलदीप यादव, इशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह और उमेश यादव.

वेस्‍टइंडीज दौरे के लिए टीम का चयन टला, अब इस दिन होगा टीम का ऐलान

खेल डेस्क. वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया के चयन का मसला अब उलझता हुआ दिखाई दे रहा है. बोर्ड ने कहा कि इस दौरे पर जाने वाली टीम इंडिया के सदस्यों के चयन को लेकर मुंबई में आज कोई बैठक नहीं होगी.

टीम के चयन को लेकर होने वाली बैठक की विस्तृत जानकारी इसे अंतिम रूप दिए जाने के बाद दी जाएगी. एक रिपोर्ट के मुताबिक अब वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम इंडिया का चयन रविवार को सुबह 11.30 बजे होगा.

इससे पहले टीम का चयन 19 जुलाई को किया जाना था. लेकिन फिलहाल इसे आज के लिए टाल दिया गया है. बताया जा रहा है कि भारतीय चयनकर्ता महेंद्र सिंह धोनी को लेकर असमंजस में हैं. धोनी के भविष्य पर चर्चा करने के बाद टीम इंडिया का ऐलान किया जाएगा.

वेस्टइंडीज दौरे के लिए इस टीम चयन को बेहद खास माना जा रहा है क्योंकि अबकी दफा टीम में किन पुराने खिलाड़ियों को बाहर किया जाएगा ये देखने वाली बात होगी. इसके साथ ही इस बात पर सभी की नज़रे होगी कि क्या धोनी को आराम दिया जाएगा.

धोनी को वेस्टइंडीज दौरे पर अगर टीम में नहीं चुना जाता तो ये बात और पुख्ता हो जाएगी कि वे जल्द ही इंटरनेशनल क्रिकेट को अलविदा कह देंगे. इस बात के कयास पहले से ही लगाए जा रहे थे कि धोनी वर्ल्ड कप के बाद संन्यास का ऐलान कर सकते हैं.

ऐसे में माना जा रहा है कि वेस्टइंडीज दौरे के लिए टीम का चयन किए जाने से पहले धोनी अपने संन्यास के बारे में बता सकते हैं. कई क्रिकेट विशेषज्ञों का मानना है कि धोनी कप्तान कोहली और बीसीसीआई को अपने इस फैसले के बारे में बता चुके हैं.

हालांकि धोनी ने खुद इस बात को लेकर फिलहाल किसी तरह का कोई बयान नहीं दिया हैं. एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली चयन समिति वेस्टइंडीज के साथ होने वाली सीरीज के लिए कुछ नए खिलाड़ियों को टीम में मौका दे सकती हैं.

भारतीय क्रिकेट टीम अमेरिका और वेस्टइंडीज में तीन से 14 अगस्त तक तीन टी-20 और तीन मैचों की वनडे सीरीज खेलेगी. वहीं इसके बाद भारतीय टीम एंटिगुआ और जमैका में दो टेस्ट मैच भी खेलने है.

एक रिपोर्ट के मुताबिक इस दौरे पर टीम में नए चेहरों को मौका मिल सकता है. जिनमें शुभमन गिल और श्रेयस अय्यर शामिल हैं. श्रेयस अय्यर और शुभमन गिल इस वक्त भारत की ए टीम के साथ विंडीज दौरे पर ही हैं.

इस सीरीज के जरिए भारतीय टीम नंबर 4 की परेशानी को सुलझाने के लिए सही बल्लेबाज को तलाशने की भी कोशिश करेगी. वहीं तेज गेंदबाज दीपक चाहर, खलील अहमद, नवदीप सैनी और आवेश खान शामिल किया जा सकता हैं.

मुंबई इंडियंस के लिए खेलने वाले राहुल चाहर, मयंक मारकंडे और राजस्थान रॉयल्स के लेग स्पिनर श्रेयस गोपाल भी भारतीय टीम में अपनी जगह बना सकते हैं. दोनों देशों के बीच टेस्ट सीरीज 22 अगस्त से शुरू होगी, जो वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का हिस्सा है.