विप्रो का बड़ा फैसला, फाउंडर अजीम प्रेमजी और बेटे के सैलरी पैकेज में की भारी कटौती

नई दिल्ली. इस समय देश कोरोना महामारी की परेशानी झेल रहा है. कोरोना का कहर को कम  करने के लिए देशभर में लॉकडाउन लगाया गया. जिसके कारण कारोबारियों को काफी नुकसान उठाना पड़ा है.अपने नुकसान को कम करने के लिए कंपनियां नौकरियों में छटनी कर रही है, या फिर सैलरी में कटौती.

विप्रो कंपनी ने एक बड़ा कदम उठाते हुए फाउंडर चेयरमैन अजीम प्रेमजी और उनके बेटे और कंपनी के चेयरमैन रिशद प्रेमजी के सैलरी पैकेज में भी कटौती कर दी है. . हालांकी ये कदम दोनो की सहमती के बाद उठाया गया है.  वर्ष 2020 में खुद ही अपने सैलरी पैकेज में भारी कटौती हुई है.

कंपनी ने हाल में अमेरिका के सिक्युरिटीज एक्सचेंज कमीशन को यह जानकारी दी है. असल में कंपनी अमेरिका के न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में भी लिस्टेड है, इसलिए नियामक नियमों के तहत ऐसे बदलाव की जानकारी एसईसी को देनी होती है.

एसईसी को दी गई जानकारी के अनुसार,अजीम प्रेमजी को वित्त वर्ष 2019 में कुल 2,62,054 डॉलर यानी की करीब 1.96 करोड़ रुपये का सैलरी पैकेज मिला था, जिसे इस वित्त वर्ष यानी 2020 के लिए उन्होंने घटाकर 1,35,772 डॉलर यानी की करीब 1.01 करोड़ रुपये कर लिया है.

अब बात अगर उनके बेटे चेयरमैन रिशद की जाये तो उन्होंने अपनी कुल सैलरी पैकेज को पिछले साल के 9,87,652 डॉलर यानी की करीब 7.40 करोड़ रुपये के मुकाबले इस साल घटाकर 6,83,496 डॉलर यानी की करीब 5.12 करोड़ रुपये कर लिया है.

अजीम प्रेमजी ने सिर्फ सैलरी में भारी कटौती का ही फैसला नहीं लिया है. बल्कि प्रॉफिट से जुड़ा कमीशन छोड़ दिया है. इसी तरह रिशद प्रेमजी ने वैरिएबल पे और प्रॉफिट से जुड़ा कमीशन लेना छोड़ दिया है.

पिछले वित्त वर्ष में कंपनी ने अजीम प्रेमजी और रिशद को क्रमश: 1,31,231 डॉलर करीब 98.42 लाख रुपये और 6,97,531 डॉलर करीब 5.23 करोड़ रुपये का भुगतान कमीशन और वैरिएबल पे आदि कम्पोनेंट के रूप में किया था. लेकिन इस वित्त वर्ष में वे कमीशन नहीं लेंगे. अजीम प्रेमजी को नेट प्रॉफिट का 0.5 फीसदी हिस्सा कमीशन के रूप में मिलता है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: