IPL 2019 Winner Team
  • चेन्नई की टीम 20 ओवरों में सात विकेट पर 148 रन ही बना पाई
  • चेन्नई के शेन वॉटसन 59 गेंद पर 80 रन की पारी खेलकर मैच को अंतिम ओवर तक ले गए

हैदराबाद. आईपीएल 2019 के खिताबी मुकाबले में मुंबई ने चेन्‍नई पर एक रन से रोमांचक जीत दर्ज करते हुए आईपीएल खिताब अपने नाम कर लिया. मुंबई की टीम ने IPL-12 के फाइनल मुकाबले में 8 विकेट पर 149 रन बनाए.

जिसके जवाब में चेन्नई की टीम 20 ओवरों में सात विकेट पर 148 रन ही बना पाई. चेन्नई के शेन वॉटसन 59 गेंद पर 80 रन की पारी खेलकर मैच को अंतिम ओवर तक ले गए. लेकिन लसिथ मलिंगा के आखिरी ओवर में वॉटसन के रन आउट होने के बाद मुंबई ने खिताब पर कब्‍जा किया.

मुंबई इंडियंस इससे पहले 2013, 2015 और 2017 में ट्रॉफी जीत चुकी है. इस सीजन के फाइनल मुकाबले में जीत करने के साथ ही मुंबई चार बार खिताब जीतने वाली पहली टीम बन गई है. वहीं चेन्नई ने तीन बार खिताब जीते हैं. इस लिहाज से मुंबई आईपीएल इतिहास की सबसे सफल टीम बन गई है.

मुंबई और चेन्नई के बीच हुआ ये मैच कई उतार-चढाव से भरा हुआ रहा. मैच का पलड़ा कभी चेन्नई की तरफ तो कभी मुंबई की तरफ झुक रहा था. लेकिन मुंबई की टीम ने अंतिम ओवर में अपने अनुभवी खिलाड़ियों का फायदा उठाते हुए मुकाबले को अपने नाम किया.

आखिर ओवर में चेन्नई को जीत के लिए 9 रन चाहिए थे. चेन्नई के बल्लेबाजों ने पहली दो गेंदों पर एक-एक रन लिया. इसके बाद तीसरी गेंद पर दो रन बने. जबकि चौथी गेंद पर दूसरा रन लेते समय शेन वाटसन (80) रनआउट हो गए.

अब अंतिम दो गेंदों पर चेन्नई को चार रन चाहिए थे. शार्दुल ने 5 वीं गेंद पर दो रन लिए. जब अंतिम गेंद पर दो रन चाहिए थे तब मलिंगा ने शार्दुल को एलबीडब्ल्यू कर मुकाबले को अपनी टीम की झोली में ड़ाल दिया.

मुंबई से मिले लक्ष्य का पीछा करने उतरी चेन्नई की टीम को उसके सलामी बल्लेबाजों ने सधी हुई शुरूआत दी. चेन्नई को पहला झटका फाफ डू प्लेसिस 26 के रूप में लगा. लेकिन उनके आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने आए रैना को चाहर ने 8 रन पर एलबीडब्ल्यू कर दिया था.

कप्तान महेंद्र सिंह धोनी 2 रन के स्कोर पर रनआउट हो गए मगर पिछले मैच में अर्द्धशतक बनाने वाले वाटसन ने दूसरा छोर संभाले रखा. अंतिम गेंद पर विकेट लेने वाले श्रीलंका के लसिथ मलिंगा ने इससे पहले अपने तीन ओवरों में काफी रन लुटाए थे.

मलिंगा के पारी के छठे ओवर में वाटसन ने उनकी गेंदों पर दो चौके और एक छक्का लगाकर मैच को अपनी तरफ खींच लिया था. अंतिम पांच ओवरों में जब चेन्नई को 62 रन की जरूरत थी. उस वक्त मलिंगा के ओवर में चेन्नई के बल्लेबाजों ने बीस बटोरे.

जिसमें वाटसन के तीन चौकों के अलावा ड्वेन ब्रावो 15 का एक छक्का भी शामिल था. वाटसन ने 18वें ओवर में क्रुणाल पंड्या की गेंद पर लगातार तीन छक्के जड़े. इस तरह अब मुकाबले का रुख चेन्नई की तरफ हो चुका था.

अंतिम दो ओवरों में धोनी की टीम को 18 रन चाहिए थे लेकिन बुमराह ने ड्वेन ब्रावो को विकेट के पीछे कैच करा दिया. अगली बची तीन गेंदों पर चार रन आए लेकिन अंतिम गेंद पर डी कॉक की गलती से लेग बाई का चौका चला गया.

अंतिम ओवर की चौथी गेंद पर वाटसन के रनआउट होना इस मैच का सबसे बड़ा टर्निंग प्वाइंट साबित हुआ. इससे पहले मुंबई के सलामी बल्लेबाजों क्विंटन डी कॉक 29 और कप्तान रोहित शर्मा 15 ने पावरप्ले में मुंबई को तेज शुरुआत दिलाई थी.

मुंबई का पहला विकेट पांचवें ओवर में 45 रन पर गिर गया था जब शार्दुल ने क्विंटन डी कॉक को पवेलियन की राह दिखाई. पिछले मैच में शानदार पारी खेलने वाले सूर्य कुमार यादव 15 को ताहिर ने अपने पहले ही ओवर में आउट कर दिया.

इशान किशन 23 ताहिर का दूसरा शिकार बने. वहीं हार्दिक पंड्या 16 रन के स्कोर पर तेजी से रन गति बढ़ाने के चक्कर में दीपक चाहर का शिकार बने. चाहर ने हार्दिक को एलबीडब्ल्यू कर मुंबई की तेजी से बढ़ती रन गति पर लगाम लगाई.

हालांकि चेन्नई के गेंदबाज दीपक चाहर (3/26), शार्दुल ठाकुर (2/37) और इमरान ताहिर (2/23) ने मुंबई को बड़े स्कोर तक पहुंचने से रोक लिया. मुंबई की तरफ से किरोन पोलार्ड ने नाबाद 41 रन की पारी खेली.

Trending tags – IPL 2019 | Sports News | Cricket news | IPL 2019 Final | Aaj ka Samachar