इरफान खान के ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया गया पत्नी सुतपा और बेटों का दिल छू लेने वाला पोस्ट

395276eba0d29831e1a92a2b10f3a6ca656dc7f79bf1d43b81324c48fadc519f_1
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली: बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर इरफान खान का 29 अप्रैल को 54 की उम्र में निधन हुआ. उनके जाने के बाद उनके परिवार पर जैसे दुखों का पहाड़ टूट गया. पत्नी सुतापा सिकदर और उनके दोनों बेटों बबील और अयान ने फैंस के लिए एक बयान जारी किया है. इस बयान को शुक्रवार को इरफान खान के ट्विटर अकाउंट पर शेयर किया है.

इरफान द्वारा किया गया आखिरी ट्वीट 12 अप्रैल, 2020 का है. उन्होंने 12 अप्रैल को फोटो शेयर किया था. फोटो में इरफान माइक के सामने खड़े नजर आ रहे हैं और उस पर लिखा था-‘अंदर से मैं बहुत इमोशनल हूं, बाहर मैं बहुत खुश हूं. ‘अंग्रेजी मीडियम’ डिजनी प्लस हॉटस्टार वीआईपी पर स्टीम होगा.’ इरफान खान के ट्विटर अकाउंट पर उनकी पत्नी सुतापा सिकदर और दोनों बेटों बबील और अयान के नाम से बयान किया गया है.

इसमें लिखा गया है-‘मैं इसे फैमिली स्टेटमेंट के तौर पर भला कैसे लिख सकती हूं, जहां पूरी दुनिया इसे निजी क्षति की तरह देख रही है? मैं खुद को यहां अकेला कैसे महसूस करूं जब इस वक्त लाखों लोग इस शोक में डूबे हैं? मैं सभी को ये बता देना चाहती हूं कि ये क्षति नहीं है, ये पाना है, उन सभी चीजों का जो उन्होंने हमें सिखाया है और अब हमें उन पर अमल करना है और उसके जरिए आगे बढ़ना सीखेंगे, मैं उन चीजों को भरने की कोशिश कर रही हूं, जिसके बारे में पहले से लोगों को पता नहीं होगा.

सुतपा ने आगे लिखा ये हमारे लिए अविश्वसनीय है, लेकिन मैं इसे इरफान के शब्दों में कहूंगी, ‘यह मैजिकल है’, चाहे वो यहां हों या नहीं और यही बातें उन्हें पसंद थीं, उन्होंने कभी भी एक आयामी सच को पसंद नहीं किया है. उनसे बस मेरी एक ही शिकायत है कि उन्होंने मुझे जीवन भर के लिए बिगाड़ दिया. परफेक्शन को लेकर उनकी कोशिशें मुझे साधारण लाइफ में सेटल नहीं होने देती. हर चीज में उन्हें एक रिदम नजर आता, फिर चाहे वो शोर हो या कोलाहल, चाहे मेरी बेसुरी आवाज हो फिर मेरा अनाड़ी वाला डांस.

अजीब ये है कि हमारी लाइफ एक्टिंग में मास्टरक्लास थी, इसलिए जब ‘बिन बुलाए गेस्ट’ की ड्रमैटिक एंट्री हुई तभी से मैं भी कोलाहल में सुर को पहचाने लगी. डॉक्टरों की रिपोर्ट मुझे स्क्रिप्ट जैसी लगती और चाहती थी कि ये परफेक्ट हो, इसलिए मैंने ऐसी कोई डीटेल मिस नहीं की जो उन्होंने अपनी परफॉर्मेंस में तलाशा हो.

उन्होंने लिखा इस सफर के दौरान कुछ अद्भुत लोगों से मिली, जिसकी लिस्ट लंबी है, लेकिन कुछ ऐसे हैं जिनका नाम मैं यहां बताना चाहूंगी. हमारे ऑन्कॉलजिस्ट डॉक्टर नितेश रस्तोगी (मैक्स हास्पिटल साकेत), जिन्होंने शुरुआत से हमारा हाथ थामे रखा, डॉक्टर डैन क्रेल (यूके), डॉक्टर शिद्रवी (यूके), मेरी धड़कन और अंधेरे में मेरे लिए रोशनी की तरह बनी रहीं डॉक्टर सेमंती लिमये (कोकिलाबेन हॉस्पिटल).

ये जर्नी कितना आश्चर्यजनक, खूबसूरत, जबरदस्त, तकलीफदेह और एक्साइटिंग रहा, इसे शब्दों में बता पाना काफी कठिन है. मुझे लगता है कि ये ढाई साल का अंतराल, जिसकी एक अपनी शुरुआत थी, अपना मध्यांतर और अपना अंत जिसमें इरफान एक ऑर्केस्ट्रा बजानेवाले की भूमिका में रहे, हमारे 35 साल का साथ छोड़कर अब अलग हो चुके हैं.

इसे हमारी शादी न कहें, बल्कि मिलना कहिए. मैं अपनी छोटी सी फैमिली को एक नाव पर सवार देखती, जिसपर मेरे दोनों बेटे बबील और अयान भी होते, जिन्हें इरफान गाइड करते-वहां से नहीं, यहां से मोड़ो… चूंकि लाइफ सिनेमा नहीं, इसलिए यहां कोई रीटेक भी नहीं. मैं वाकई चाहती हूं कि मेरे बच्चो इस नाव को अपने पिता के डायरेक्शन को ध्यान में रखते हुए आगे बढ़ाएं. मैंने अपने बच्चों से कहा है कि संभव हो तो वे उन बातों को इकट्ठा करें जो उन्होंने अपने पिता से सीखा है, जो बातें उनके लिए जरूरी हैं.

बाबील ने अपने पोस्ट में लिखा अनिश्चितता के नृत्य के लिए आत्मसमर्पण करना सीखें और ब्रह्मांड में अपने यकीन पर विश्वास करें. अयान ने लिखा अपने मन को नियंत्रित करना सीखें और अपने आपको इसके नियंत्रण में न आने दें. आंसू बहेंगे, जब हम उनका पसंदीदा पेड़ रात रानी उस जगह लगाएंगे, जहां उन्हें शानदार विजयी यात्रा के बाद दफनाया गया. ये समय लेता है, लेकिन खिल जाएगा और खुशबू फैलकर उन सभी को स्पर्श कर लेगी, जिन्हें मैंने फैन्स नहीं, बल्कि आने वाले वर्षों का परिवार कहा था.’

हिन्दुस्थान समाचार/ मोनिका शेखर