हैकर प्रेस कॉफ्रेस में क्या कर रहे थे कपिल सिब्बल?- रविशंकर

नई दिल्ली. ईवीएम हैक के मुद्दे पर केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की ये हैं मुख्य बातें. वहीं कांग्रेस ने ईवीएम-हैकिंग के दावे को गंभीर बताया है. मंगलवार को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने EVM मुद्दे पर कांग्रेस को जमकर कोसा.

  • ईवीएम हैंकिंग का दावा करने वाले कांग्रेस के हैं
  • आयोजक आशीष रे समर्पित कांग्रेस है
  • आयोजक है राहुल के करीबी
  • भारतीय लोकतंत्र को बदनाम करने की कोशिश
  • हैकर की प्रेस कॉफ्रेस में सिब्बल क्या कर रहे थे
  • हैकर ने कोई सबूत नहीं दिया
  • कथित हैकर का 2014 लोकसभा चुनाव का दावा
  • पहले लगता था कि राहुल गांधी अपना होमवर्क नहीं करते हैं, लेकिन उनकी पूरी पार्टी ही अपना होमवर्क नहीं करती है
  • चुनाव आयोग ने जब EVM हैक करने के लिए लोगों को बुलाया था, तब ये लोग कहां थे?
  • कांग्रेस ने चुनाव में हार का बहाना पहले ही ढूंढ लिया है
  • मायावती 2007 में यूपी में जीतीं तो ईवीएम ठीक, अखिलेश 2012 में जीते तो ईवीएम ठीक, ममता बनर्जी 2-2 बार विधानसभा चुनाव जीतीं तो EVM ठीक, अरविंद केजरीवाल और जब कांग्रेस जीती, तब EVM ठीक
  • अमरिंदर सिंह जीते तब EVM ठीक थी, लेकिन क्या केवल 2014 में EVM हैक की गई
  • कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल कथित ईवीएम हैकिंग के कार्यक्रम में क्या कर रहे थे?
  • सिब्बल कांग्रेस की तरफ से पूरे कार्यक्रम की मॉनिटरिंग कर रहे थे
  • यह कांग्रेस की योजना है, शुजा कौन से आईटी एक्सपर्ट हैं, मैंने आज तक नाम नहीं सुना

लंदन में चल रहे हैकथॉन में एक कथित अमेरिकी हैकर ने दावा किया है कि भारत में ईवीएम हैक हो सकती हैं. हैकर ने दावा किया है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में उसने बीजेपी के लिए भी हैकिंग की थी.

इस कार्यक्रम में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल भी मौजूद थे. सिब्बल की मौजूदगी को लेकर उठ रहे सवालों के बाद कांग्रेस ने साफ किया है कि प्रेस कॉन्फ्रेंस में सिब्बल कांग्रेस का प्रतिनिधित्व नहीं कर रहे थे.

लंदन में हैकथॉन कार्यक्रम में भारत में ईवीएम हैकिंग को लेकर एक कथित अमेरिकी हैकर ने दावा किया है कि साल 2014 के लोकसभा चुनाव में उसने बीजेपी के लिए भी हैकिंग की थी. और हैकिंग के लिए पूर्व केंद्रीय मंत्री गोपीनाथ मुंडे ने उनकी टीम से संपर्क किया था.

हैकर ने यह भी दावा किया कि मुंडे की मौत कार हादसे में नहीं बल्कि उनका मर्डर किया गया था. साल 2015 के दिल्ली विधानसभा चुनावों में आम आदमी पार्टी के पक्ष में ईवीएम की हैकिंग की थी.