प. बंगालः चुनावी अखाड़ा बनी दुर्गा पूजा, ममता के बाद पीएम मोदी करेंगे पंडाल का उद्घाटन

Durga Puja Pandal
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

पश्चिम बंगाल में अगले साल में चुनाव होना है. ऐसे में सभी दलों ने अपनी रणनीति बनानी शुरू कर दी है. सभी दलों की ओर से जनता को लुभाने की कोशिश शुरू हो गई है. ये चुनाव बीजेपी और ममता बनर्जी दोनों के लिए अहम है.

2019 लोकसभा के नतीजों को देखते हुए बीजेपी आगामी विधानसभा चुनाव में अपने लिए एक मौका देख रही है. बीजेपी प्रदेश के हिन्दू वोटबैंक को लुभाने में लगी है. और लगातार टीएमसी पर हिन्दू विरोधी नीति अपनाने का आरोप लगा रही है. तो वहीं ममता बनर्जी अपनी वापसी के लिए पूरी तरह से मैदान में उतर चुकी हैं.

ममता अच्छी तरह से जानती हैं कि सिर्फ अल्पसंख्यक वोटों से उनकी वापसी संभव नहीं है. ऐसे में इस साल की दूर्गा पूजा का महत्व काफी बढ़ गया है. इस साल की दूर्गा पूजा के पंडाल वोटरों को लुभाने का एक अच्छा जरिया बनने वाले हैं. ममता बनर्जी ने कल (बुधवार को) 69 स्थानों पर दुर्गापूजा का ऑनलाइन उद्घाटन करके राज्य में त्योहारों के मौसम की शुरुआत कर दी.

ममता ने कहा कि हम तमाम सुरक्षा एहतियातों का पालन करते हुए मां की आराधना करेंगे और आर्शीवाद लेंगे. कोविड-19 और लॉकडाउन के चलते लोगों ने बहुत कठिनाईयों का सामना किया और वे काफी तनाव में रहे. मां दुर्गा से कोरोना संकट से बाहर निकालने की प्रार्थना करें.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बाद बीजेपी भी ऐसा करने में पीछे कैसे हट सकती थी. पार्टी ने तुरंत अपने सबसे लोकप्रिय नेता यानी पीएम मोदी से दुर्गा पंडाल का उद्घाटन कराने का फैसला किया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 22 अक्तूबर को कोलकाता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए एक पूजा पंडाल को संबोधित करेंगे.

इससे पहले पिछले साल अमित शाह ने सॉल्ट लेक में एक दुर्गा पूजा पंडाल का उद्घाटन किया था. इसके अलावा बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा सिलीगुड़ी का दौरा करेंगे. वे उत्तरी बंगाल में पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात करेंगे.