बारिश से उफान पर नदियां, हो रही भारी तबाही..

  • हिमाचल में रेड अलर्ट के बीच शनिवार रात और सोमवार की दोपहर तक बारिश-भूस्खलन की संभावना जताई गई है
  • प्रदेश भर में इस प्राकृतिक आपदा के कारण 21 लोगों की मौत हो चुकी है

मूसलाधार बारिश ने हिमाचल प्रदेश के जन जीवन को अस्त व्यस्त कर दिया है. ऐसा ही हाल उत्तराखंड में चल रहा है.

हिमाचल में रेड अलर्ट के बीच शनिवार रात और सोमवार की दोपहर तक बारिश-भूस्खलन की संभावना जताई गई है. प्रदेश भर में इस प्राकृतिक आपदा के कारण 21 लोगों की मौत हो चुकी है.

वहीं दर्जनों लोगों के घायल होने की भी खबरे मीडिया से लगातार मिल रही हैं. शिमला में नौ लोगों, सोलन में पांच, चंबा में तीन, कुल्लू में दो, बिलासपुर-सिरमौर में 1-1 व्यक्ति की जान जा चुकी है.

राज्य के नौ नेशनल हाईवे बारिश और भूस्खलन के कारण प्रभावित हुए हैं. राज्य में एयरपोर्ट पर उड़ानें भी प्रभावित हो रही हैं. बारिशके कारण जहां सड़कें कई मीटर तक बह गई हैं तो पुल भी टूट गए हैं.

वहीं भारी बारिश-भूस्खलन के कारण आज शिमला, सोलन, सिरमौर और कुल्लू जैसे जिलों में आज की छुट्टी घोषित कर दी है.

हिमाचल में टूटा 8 साल का रिकॉर्ड

राज्य में 2011 के बाद से बारिश का रिकॉर्ड टूटा है. बीते 24 घंटे में यहां 102.5 एमएम बारिश हुई है. मौसम विभाग की मानें तो 24 अगस्त तक यहां मौसम खराब रह सकता है.

उत्तराखंड में बादल फटा

भूस्खलन-बाढ़ से उत्तराखंड में भी भारी नुकसान हुआ है. राज्य के आठ जिलों में तबाही मची हुई है. राज्य में कई जगह बादल फटे हैं, जिससे कोहराम मचा हुआ है. मोरी में बादल फटने से मरने वालों की संख्या 17 हो गई है.

उत्तरकाशी, लामबगड़, बागेश्वर, चमोली और टिहरी में तो हालात खराब है. मौसम विभाग ने भी आज के लिए बारिश का अलर्ट जारी किया गया है.

कई जगहों में रेस्क्यू के लिए हेलिकॉप्टर भी लगाए गए हैं. राज्य के आराकोट में एसडीआरएफ टीम ने बचाव अभियान का काम शुरू कर दिया है. लगभग 170 लोगों को भी विश्राम गृह भेजा गया है. जिन भी इलाकों में आपदा का कहर है वहां राहत पैकेट पहुंचाए गए हैं.

Trending Tags: Uttarakhand Flood 2019 | Flood Update | Flood in himachal pradesh 2019 | Samachar

Leave a Reply

%d bloggers like this: