World Cup 2019 से पहले अपनी टींम की हार पर बोले Virat Kohali,कही ऐसी बात

ICC Cricket World Cup 2019: विश्व कप 2019 के शुरु होने से पहले ही टीम इंडिया का खराब प्रदर्शन देखने को मिला. लंदन में खेले गए न्यूजीलैंड के खिलाफ वार्मअप मैच में विराट की अगुआई वाली भारतीय टीम को छह विकेट से करारी हार का सामना करना पड़ा है.

इस मैच में भारतीय टीम के टॉप ऑर्ड़र के बल्लेबाज अपनी लए खोते दिखे. इस हार से वर्ल्ड कप 2019 की शुरुआत से पहले ही टीम इंडिया की पोल खुल गई. न्यूजीलैंड की टीम इस मैच में हर छोर पर भारतीय टीम से बेहतर साबित हुई. ऐसे में कप्तान विराट कोहली ने कहा है कि इंग्लैंड में बादलों के छाए रहने पर भारतीय शीर्ष क्रम असफल रह सकता है. ऐसे में निचले क्रम के बल्लेबाजों को विश्व कप में तैयार रहना होगा.

विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया. जो की विराट के हीत में नहीं रहा. क्येकी टीम के टॉप ऑर्ड़र के बल्लेबाज कुछ खास नही कर पाए.

पहले बल्लेबाजी करते हुए टीम इंडिया 39.2 ओवर में 179 रन पर ही सिमट गई. टीम के ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा व शिखर धवन दो-दो रन बनाकर आउट हो गए.जबकि कप्तान विराट 18 रन पर आउट हुए. भारत की तरफ से सबसे अच्छी बल्लेबाजी करते हुए रवींद्र जडेजा ने ही सबसे ज्यादा 54 रन की पारी खेलकर टीम को सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया.

हार्दिक पांड्या ने 30 रन का सहयोग किया और लोकेश राहुल 6 रन बनाकर पवेलियन लौट गए. धौनी ने भी इस मैच में उम्मीदों पर पानी फेरा और 17 रन बनाए. दिनेश कार्तिक सिर्फ चार रन ही बना सके. भुवनेश्वर कुमार ने एक रन जबकि कुलदीप यादव ने 19 रन बनाए. शमी दो रन बनाकर नाबाद रहे. पहली पारी में न्यूजीलैंड के तेज गेंदबाजों ने कमाल किया और ट्रेंट बोल्ट ने सबसे ज्यादा चार जबकि नीशम ने तीन शिकार किए. टिम साउथी, ग्रैंडहोम व फर्ग्युसन को एक-एक सफलता मिली.

जीत के लिए 180 रनो के लक्ष्य का पिछा करने उतरी न्यूजीलैंड की टीम ने छह विकेट शेष रहते ही हासिल कर लिया. न्यूजीलैंड टीम ने 37.1 ओवर में चार विकेट पर 180 रन बनाए. न्यूजीलैंड की तरफ से कप्तान केन विलियमसन और रोस टेलर ने शानदार अर्धशतकीय पारी खेली.

केन विलियमसन ने 67 जबकि रोस टेलर ने 71 रन की पारी खेलकर टीम की जीत की राह आसान कर दी. ओपनर बल्लेबाज मार्टिन गप्लिट ने 22 जबकि दूसरे ओपनर बल्लेबाज कोलिन मुनरो ने 4 रन की पारी खेली. हेनरी निकोलस 15 रन बनाकर नाबाद रहे. भारत की तरफ से बुमराह, हार्दिक पांड्या, चहल व रवींद्र जडेजा को एक-एक सफलता मिली.

भारतीय कप्तान विराट कोहली ने माना है कि टीम अपनी रणनीतियों पर कायम नहीं रह पाई. उन्होंने कहा कि हमारे आगे अच्छी चुनौती थी. हम इस तरह की स्थिति की इंग्लैंड में कई जगह अपेक्षा कर सकते हैं. 50 रन पर चार विकेट गंवा देने के बाद 180 तक पहुंचना अच्छा प्रयास था. विश्व कप जैसे टूर्नामेंट में आपका शीर्ष क्रम असफल रह सकता है. ऐसे में हार्दिक का रन बनाना, एमएस धौनी का दबाव खत्म करना और जडेजा का अर्धशतक अच्छा रहा.

वहीं गेंदबाजी को लेकर कप्तान कोहली ने कहा कि हमने अच्छी गेंदबाजी की. वह चार से साढ़े चार रन प्रति ओवर से रन बना रहे थे. वर्ल्ड कप में क्षेत्ररक्षण अहम रोल निभाएगा. हमें आधे मौके भी भुनाने होंगे. हमें तीनों ही क्षेत्रों में अच्छा करना होगा. तभी जाकर हम इस वर्ल्ड कप में अच्छा प्रदर्शन कर सकेंगे.

%d bloggers like this: