BJP को समर्थन देना पड़ा भारी, TMC कार्यकताओं की हिंसा जारी
  • कोलकाता समेत आसपास के क्षेत्रों में चुनाव बाद हिंसा लगातार जारी है
  • दक्षिण 24 परगना के विस्तृत इलाके में बीजेपी कार्यकर्ताओं के घरों पर हमले और तोड़फोड़ की घटना सामने में आई है

-BENGAL में चुनाव बाद हिंसा जारी, कोलकाता और दक्षिण 24 परगना के कई घरों पर हमले

  • महिलाओं को भी नही बक्शा
  • घरों में घुसकर की तोड़फोड़
  • 19 मई के बाद से ही बीजेपी कार्यकताओं पर हमला जारी

कोलकाता. कोलकाता समेत आसपास के क्षेत्रों में चुनाव बाद हिंसा लगातार जारी है. मंगलवार देर रात दक्षिण 24 परगना के विस्तृत इलाके में बीजेपी कार्यकर्ताओं के घरों पर हमले और तोड़फोड़ की घटना सामने में आई है.

TMC कार्यकर्ताओं ने की मारपीट


जिले के कुलतली थाना क्षेत्र में करीब 10 परिवारों को स्थानीय तृणमूल कार्यकर्ताओं ने रात के अंधेरे में मारापीटा है. उनके घरों में तोड़फोड़ की है. महिलाओं को भी नहीं बख्शा गया है. आरोप है कि उनके साथ मारपीट करने वाले कह रहे थे कि बीजेपी का स्पोर्ट करने के अपराध की सजा दी जा रही है.


क्षेत्र में तनावपूर्ण माहौल


घटना को केंद्र कर मंगलवार रात से बुधवार सुबह तक पूरे क्षेत्र में हालात तनावपूर्ण रहा. परिस्थिति को समझते हुए इलाके में अतिरिक्त संख्या में पुलिस की तैनाती की गई है.

TMC का कथित तौर पर फरमान ,कोई भी वोट न दे
19 मई को अंतिम चरण में यहां मतदान हुआ था तब सत्तारूढ़ तृणमूल की ओर से कथित तौर पर एक फरमान जारी किया गया था. जिसमें गांव में किसी को भी वोट देने के लिए नहीं जाने को कहा गया था.


चुनाव बाद क्षेत्र में लगातार बमबारी

मतदान संपन्न होने के बाद से लगातार इन लोगों पर हमले हो रहे हैं. चुनाव बाद क्षेत्र में लगातार बमबारी हुई थी. कई घरों में तोड़फोड़ पहले भी हो चुके हैं. मतदान वाले दिन यहां बीजेपी के कार्यकर्ताओं को दौड़ा-दौड़ा कर मारापीटा गया था.

हमले से पांच लोगों की हालत गंभीर


जिसमें से पांच लोगों की हालत गंभीर हो गई थी. आरोप है कि इस गांव के अधिकतर लोग बीजेपी के समर्थक हैं और इस बार लोकसभा चुनाव में बीजेपी उम्मीदवार को वोट दे चुके हैं।. इसलिए इन्हें सजा दी जा रही है. इलाके में हिंसक माहौल को देखते हुए पुलिस की गश्ती जारी हैं.

कोलकाता के बेलियाघाटा में भी इसी तरह की परिस्थिति है. एक तरफ चुनाव आयोग के निर्देशानुसार उत्तर कोलकाता संसदीय क्षेत्र के जोड़ासांको विधानसभा इलाके में संस्कृत कॉलेजिएट स्कूल के मतदान केंद्र संख्या 200 पर पुनर्मतदान हो रहा है तो दूसरी ओर बेलियाघाटा अस्पताल के पास रहने वाले लोगों के घरों के सामने तृणमूल कार्यकर्ताओं ने जमावड़ा शुरू कर दिया है.

दावा है कि इन लोगों ने उत्तर कोलकाता लोकसभा केंद्र से बीजेपी उम्मीदवार राहुल सिन्हा को वोट दिया था जिसकी वजह से इन्हें घरों से भगाया जा रहा है. बेलियाघाटा में रहने वाले एक शख्स ने मीडिया से मदद मांगी है. उसने कहा है कि बीजेपी समर्थक बता कर बेलियाघाटा के लोगों को कोलकाता से भगाने की कोशिश की जा रही है.

पुलिस भी किसी तरह की कोई मदद नहीं कर रही है. इस बारे में पूछने पर बेलियाघाटा थाना की ओर से बताया गया है कि इलाके से बाहरी लोगों को भगाने की कोशिश की जा रही है. कुल मिलाकर कहा जाए तो बाहरी के नाम पर कोलकाता में लंबे समय से रहने वाले हिंदी भाषी लोगों को मतदान बाद लगातार प्रताड़ना का सामना करना पड़ रहा है.

हिन्दुस्थान समाचार/ ओम प्रकाश

Trending tags – Political News | Lok Sabha Election 2019 | Election 2019 | BJP | Aaj ka Samachar

%d bloggers like this: