Vikas Dubey Encounter: खत्म हुआ विकास दुबे का किस्सा, इन 12 प्वाइंट में जानें 24 घंटे की पूरी कहानी

नई दिल्ली. सीओ समेत आठ पुलिस कर्मियों की नृशंश हत्या करने वाला शातिर अपराधी विकास दुबे एनकाउंटर में मारा गया है. कानपुर जिले से दो किलोमीटर दूर एसटीएफ की गाड़ी पलट गई. जिसके बाद विकास दुबे ने पुलिसकर्मियों के हथियार छीनकर भागने की कोशिश की. जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने विकास को मुठभेड़ में मार गिराया.

आपको बताते हैं कि पिछले 24 घंटे में क्या-क्या हुआ.

1-विकास दुबे को आखिरी बार फरीदाबाद (Faridabad) में देखा गया था, पुलिस उसे तलाश रही थी. इसी बीच गुरुवार की सुबह अचानक कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे मध्य प्रदेश के उज्जैन पहुंचा. यहां वो महाकाल मंदिर में दर्शन करने गया.

2-विकास दुबे ने महाकाल मंदिर (Mahakaal Temple) के गार्ड से चिल्ला- चिल्लाकर कहा था कि जानते हो मैं विकास दुबे हूं कानपुर वाला.

3-गिरफ्तारी के बाद विकास से मध्यप्रदेश पुलिस (Madhya Pradesh police) ने आठ घंटे तक पूछताछ की. इस दौरान उसने कई चौंकाने वाले खुलासे किए.

4-पूछताछ में उसने खुलासा किया कि चौबेपुर के अलावा कई थानों में मेरे मददगार थे. आगे उसने कहा कि एनकाउंटर के डर से फायरिंग की. विकास ने पूछताछ में कई बड़े चौंकाने वाले खुलासा किए थे.
इसके बाद देर शाम को मध्य प्रदेश पुलिस ने विकास को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस की.

5- यूपी एसटीएफ विकास दुबे को उज्‍जैन से लेकर चली थी. सुबह करीब 7.15 बजे कानपुर के बर्रा थाना क्षेत्र में एसटीएफ की कार पलट गई.

6-जब तक एसटीएफ काफिले में शामिल बाकी दो गाड़ियां रुकतीं, तब तक दुर्घटनाग्रस्त कार से विकास दुबे बाहर निकला और पिस्टल लेकर फायरिंग करते हुए भागने की कोशिश करने लगा.

7-एसटीएफ के जवानों ने मुस्तैदी दिखाते हुए मोर्चा संभाला और पुलिसकर्मी उसके पीछे भागे.

8-दोनों तरफ से फायरिंग होने लगी. इस दौरान विकास दुबे को गोली लग गई, इस एनकाउंटर में कई पुलिसकर्मी भी घायल हो गए हैं.

9-7.25 पर एनकाउंटर खत्म हो गया. विकास और पुलिसकर्मियों को अस्पताल ले जाया गया.

10-डॉक्टरों ने विकास दुबे को मृत घोषित कर दिया. आईजी और एसएसपी ने भी गैंगस्‍टर के मारे जाने की पुष्टि कर दी.

11- इससे पहले गुरुवार की रात को विकास की पत्नी और बेटे को भी यूपी एसटीएफ ने लखनऊ से दबोच लिया था.

12-आरोपी विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे उर्फ सोना व उनके बेटे को एसटीएफ ने लखनऊ कृष्णा नगर के नारायण पुरी मोहल्ले में एक खाली प्लाट के पास से गिरफ्तार किया गया था.

कानपुर नगर जनपद के चौबेपुर थानाक्षेत्र में दो जुलाई को एक दिल दहला देने वाली घटना जिसमे सीओ समेत आठ पुलिस कर्मी शहीद हो गए थे. अंजाम देने वाले विकास दुबे को मध्यप्रदेश पुलिस ने गुरुवार को मध्यप्रदेश के उज्जैन महाकाल मंदिर में पकड़ लिया गया था.

मध्यप्रदेश में पकड़े गए अपराधी को लेने के लिए यूपी एसटीफ गुरुवार को ही मध्यप्रदेश के लिए रवाना हो गई थी.आज सुबह यूपी एसटीएफ जब विकास को ला रही थी उसकी गाड़ी रास्ते में ही पलट गई.

इस दौरान विकास दुबे ने पुलिसकर्मियों के हथियार छीनकर भागने की कोशिश की. जवाबी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने विकास को मुठभेड़ में मार गिराया.

Leave a Reply

%d bloggers like this: