वेदांता को BSE और NSE से अलग होने की सैद्धांतिक मंजूरी मिली

Vedanta
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

मुम्बई, 29 सितम्बर (हि.स.). वेदांता समूह को शेयर बाजार के दोनों बेंचमार्क बीएसई और एनएसई से डिलिस्ट, अलग होने की सैद्धांतिक मंजूरी मिल गई है।

अनिल अग्रवाल के स्वामित्व वाली वेदांता ने मंगलवार को शेयर बाजार को दी जानकारी में बताया कि अंतिम मंजूरी मिलने के बाद वेदांता की मूल कंपनी वेदांता रिसोर्स लिमिटेड (वीआरएल) और उसकी सहायक कंपनियां डिलिस्टिंग पेशकश के बारे में सार्वजनिक घोषणा करेंगी।

वेदांता ने बताया कि बीएसई और एनएसई ने अपने 28 सितम्बर 2020 के पत्र में डिलिस्टिंग पेशकश को सैद्धांन्तिक मंजूरी दी है.

उल्लेखनीय है कि वेदांता रिसोर्सेज और इसकी पूर्ण स्वामित्व वाली अप्रत्यक्ष सहायक कंपनियां-वेदांता होल्डिंग्स मॉरीशस और वेदांता होल्डिंग्स मॉरीशस II ने भी इस पेशकश के संबंध में घोषणा की।

हिन्दुस्थान समाचार/गोविन्द