भूस्खलन से उत्तराखंड की रफ्तार पर लगी ब्रेक, अभी भी नहीं खुली 130 सड़कें

उत्तराखंड (Uttarakhand) में इन दिनों हो रही बारिश से जगह-जगह टूटी सड़कें मुसीबत बन रही है. भुस्खलन (Landslide) की वजह से राज्य में वाहनों की रफ्तार थम सी गई है. नेशनल हाईवेज को मिलाकर तकरीबन 130 छोटी-बड़ी सड़कों पर यातायात बाधित है.

चारों धामों को जोड़ने वाले नेशनल हाईवे पर कुछ स्थानों पर मलबा आ गया था, जिसे हटा दिया गया है. लोक निर्माण विभाग की मशीनरी सड़कों से मलबा हटाने में जुटी है. वहीं चमोली जिले में बारिश थमी है. यहां बिरही- निजमुला सहित सात अन्य बंद सड़कों को खोलने का काम जारी है.

गढ़वाल और कुमाऊं के कई इलाकों में मंगलवार को भी रुक-रुककर बारिश हो रही है. इसके चलते हाईवे पर भूस्खलन का भी खतरा बना हुआ है. मौसम विभाग ने प्रदेश में अगले 24 घंटे में विशेषकर देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, उधमसिंह नगर, नैनीताल तथा पिथौरागढ़ जनपदों में भारी वर्षा की संभावना जताई है.

राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र से मंगलवार को  प्राप्त जानकारी के अनुसार देहरादून जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग 123 दिल्ली यमुनोत्री जूड़ों में मलबा आने से बंद हो गया है. जिसे खोले जाने का कार्य किया जा रहा है. वहीं जिले में छह ग्रामीण मोटर मार्ग भी अवरुद्ध है.

रुद्रप्रयाग जिले में सोनप्रयाग श्रीकेदारनाथ पैदल मार्ग छोटी लिनचोली में मलबा आने से अवरुद्ध है. जनपद में दो ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध है, जिन्हें खोले जाने की कार्रवाई की जा रही है. हरिद्वार जिले में स्थिति सामान्य है. गंगा नदी का जलस्तर 291.45 मीटर है, जबकि खतरे का स्तर 294 मीटर है.

पौड़ी जिले में छह ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध है. टिहरी जिले में तीन ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध है. जिन्हें खोले जाने का प्रयास किया जा रहा है. उत्तरकाशी जिले में सभी क्षेत्रों में वर्षा हुई है स्थिति सामान्य है. चमोली जिले में 11 ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध हैं. जिन्हें खोले जाने का कार्य किया जा रहा है.

अल्मोड़ा जिले में दो ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध है. नैनीताल जिले में छह ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध हैं. चंपावत जिले में कंकराली गेट-घाट राष्ट्रीय राजमार्ग नौ वनलेक से स्यालसा तक कई स्थानों पर मलबा आने से अवरुद्ध है. जिसे खोले जाने की कार्यवाही की जा रही है. जनपद में एक ग्रामीण मोटर मार्ग भी अवरुद्ध है.

पिथौरागढ़ जिले में एक राष्ट्रीय राजमार्ग पिथौरागढ़ कनालीछीना तथा 16 ग्रामीण मोटर मार्ग अवरुद्ध हैं. जिन्हें खोले जाने की कार्रवाई की जा रही. उधम सिंह नगर जिले में स्थिति सामान्य है जिले भर में हल्की वर्षा हुई है. बागेश्वर जिले में चार मोटर मार्ग अवरुद्ध है. उन्हें खोले जाने की कार्रवाई की जा रही.

मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे में उत्तराखंड में कहीं के विशेषकर देहरादून, हरिद्वार, पौड़ी, उधमसिंह नगर, नैनीताल तथा पिथौरागढ़ जनपदों में भारी वर्षा की संभावना जताई है. इसके लिए मौसम विभाग ने अलर्ट जारी किया है.

Leave a Comment

%d bloggers like this: