UTTARAKHAND BOARD EXAM-2019: 1-26 मार्च तक चलेंगी परीक्षाएं

बोर्ड परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्र-छात्राओं के लिए कमर कसकर पढ़ाई करने के दिन आ गए हैं. उत्तराखंड बोर्ड ने परीक्षाओं की तारीख घोषित कर दी है. उत्तराखंड बोर्ड के अनुसार 1 मार्च से 26 मार्च तक हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परिक्षाएं करायी जाएंगी. 1 मार्च से 25 मार्च तक हाई स्कूल की परीक्षाएं चलेंगी, तो वहीं 1 मार्च से 26 मार्च तक इंटरमीडिएट की परीक्षाएं करायी जाएंगी. वहीं प्रयोगात्मक परीक्षा एक फरवरी से 24 फरवरी तक करायी जाएंगी.

परिषद की सचिव नीता तिवारी ने परीक्षा कार्यक्रम घोषित किया. इस बार 1 लाख 49 हजार 950 छात्र-छात्राएं हाईस्कूल की और 1 लाख 24 हजार 867 छात्र-छात्राएं इंटरमीडिएट की परीक्षाएं देंगे. बोर्ड की ओर से परीक्षा के लिए प्रदेश में 1 हजार 313 केंद्र बनाए गए हैं. जिसमे 231 संवेदनशील और 27 अतिसंवेदनशील केंद्र हैं.

लोकसभा चुनाव को देखते हुए कयास लगाए जा रहे थे कि बोर्ड इस बार परीक्षाओं को जल्दी करा सकता है. वहीं इस साल से ही सरकार हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षाओं में ग्रेस मार्क्स की व्यवस्था खत्म कर रही है. उत्तराखंड बोर्ड की परीक्षाओं में छात्रों को अभी तक ग्रेस मार्क्स देने का नियम है. 40 फीसदी या इससे ऊपर नंबर होने पर अभी दो विषयों में अधिकतम 8 ग्रेस मार्क्स मिलते थे.

पिछले साल की तरह इस साल भी सरकार छात्रों की पढ़ाई के मद्देनजर परीक्षाओं के दौरान प्रदेश में सार्वजनिक समारोह, शादियों और धार्मिक स्थलों पर लाउडस्पीकरों के प्रयोग पर प्रतिबंध लगा सकती है. साथ ही नकल को रोकने के लिए विशेष दस्ते तैयार किए जाएंगे. और नकलचियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी.

चार परीक्षा केंद्रों में इजाफा

बोर्ड अधिकारियों के अनुसार इस बार प्रदेश में चार परीक्षा केंद्र बढ़ाए गए हैं. बताया कि 2018 में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की परीक्षा के लिए 1309 केंद्र बनाये गये थे. इस बार सबसे अधिक163 परीक्षा केंद्र पौड़ी में तथा सबसे कम 40 परीक्षा केंद्र चंपावत में निर्धारित किए हैं.

केंद्र बदलने के लिये तीन दिनों का समय

सचिव डॉ. नीता तिवारी ने बताया यदि किसी जनपद में परीक्षा केंद्रों में परिवर्तन होना है तो संबंधित अधिकारी तीन दिन के भीतर निर्धारित प्रस्ताव तैयार का बोर्ड कार्यालय को भेज सकते हैं. इसके बाद ही परीक्षा केंद्र में बदलाव हो सकेगा.

%d bloggers like this: