यूरोपीय संघ की पहली महिला अध्यक्ष बनी ये महिला संभाल चुकी है इस देश के अहम मंत्रालय

जर्मनी (Germany) के उर्सुला वॉन डेर लेयन (Ursula von der Leyen) को यूरोपीय संघ आयोग (European Union Commission ) की पहली महिला अध्यक्ष चुना लिया गया है. उनको यूरोपीय संसद के आधे से अधिक सदस्यों का समर्थन मिला है. उर्सुला जर्मनी की पहली विदेश मंत्री और रक्षा मंत्री रह चुकी हैं.

60 साल की उर्सुला एक नवंबर को मौजूदा अध्यक्ष जीन क्लाउड की जगह लेंगी. फ्रांस के स्ट्रासबर्ग में यूरोपीय संसद में हुए मतदान में उन्हें 747 वोटों में से 383 वोट मिले हैं.

जीत हासिल करने के बाद उर्सुला ने खुशी जाहिर करते हुए कहा, ”मुझ पर जो भरोसा किया गया है वो विश्वास है जिसे आपने यूरोप में रखा है. ये एक बड़ी जिम्मेदारी है और मेरा काम अब शुरू होता है. आशा है कि हम रचनात्मक रूप से एक साथ काम करते हैं.”

यूरोपीय संघ आयोग, यूरोपीय संघ के कानूनों का मसौदा तैयार करता है, यूरोपीय संघ के नियमों को लागू करता है और सदस्य राज्यों पर जुर्माना लगाने की ताकत भी रखता है.

उर्सुला वॉन डेर लेयन के बारे में कुछ बातें

बेल्जियम (Belgium) की राजधानी ब्रसेल्स (Brussels) में जन्मी वॉन डेर लेयेन के सात बच्चे हैं. राजनीति में आने से उर्सुला एक स्त्री रोग विशेषज्ञ के रूप में काम करती थीं.

जर्मनी की रक्षा मंत्री रहते हुए सशस्त्र बलों के लिए लगातार उपकरणों की कमी को लेकर उनकी काफी आलोचना हुई थी पर कुछ लोग इसे उनकी अलग प्रबंधन शैली मानते हैं.

Leave a Reply

%d bloggers like this: