हाथरस गैंगरेप केस: पुलिस ने परिवार की मर्जी के खिलाफ आधी रात को करा दिया पीड़िता का अंतिम संस्कार

30
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के हाथरस (Hathras) में हुए दिल्ली जैसे निर्भया कांड (Nirbhaya) ने पूरे देश को झकझोर के रख दिया है. हर कोई गुस्से में हैं. पर उत्तर प्रदेश की पुलिस (Uttar Pradesh Police0 का रूख उस समय भी वैसा जैसा था जब उसके साथ गैंगरेप (Gangrape) हुआ था और आज भी जब उसका अंतिम संस्कार हुआ.

यूपी पुलिस (UP Police) ने अपनी मर्जी से हैवानियत की शिकार लड़की का अंतिम संस्कार कर दिया. परिवार वाले गुहार लगाते रहे. वो भीख मांगते रहे कि 15-20 मिनट के लिए बेटी के आखिरी दर्शन कर लेने दिए जाएं.

आखिरी समय की रस्म होती हैं वो पूरी कर लेनी दी जाएं पर पहले से ही आरोपों में घिरी पुलिस को ये कतई मंजूर नहीं हुआ और उसने रात में ही पीड़िता का बिना रीति रिवाज के अंतिम संस्कार कर दिया गया. पुलिसवालों ने अंतिम संस्कार के वक्त घेरा बना लिया. किसी को चिता के पास जाने तक नहीं दिया.

बताया जा रहा है कि गैंगरेप पीड़िता का शव रात करीब 12 बजकर 45 मिनट पर हाथरस पहुंचा था. एंबुलेंस को जब अंतिम संस्कार के लिए ले जाया रहा था तो लोगों ने उसे रोक दिया और एंबुलेंस के आगे लेटकर आक्रोश जताया. इसके बाद पुलिस और ग्रामीणों में झड़प हो गई. दरअसल, परिजन रात में शव का अंतिम संस्कार नहीं करना चाहते थे, जबकि पुलिस तुरंत अंतिम संस्कार कराना चाहती थी.

इसके बाद आधी रात के बाद करीब 2:40 बजे बिना किसी रीति रिवाज के और परिजनों की गैरमौजूदगी में पीड़िता का अंतिम संस्कार कर दिया गया. पुलिस और प्रशासन के इस रवैये से परिजनों और गांव वालों में भारी आक्रोश है. इतना ही नहीं मीडिया को भी कवरेज से रोक दिया गया और बदसलूकी की गई.

पीड़िता की मौत के बाद तमाम सियासी दलों ने जमकर सरकार पर निशाना साधा. भीम आर्मी ने तो सफदरजंग अस्पताल पहुंचकर धरना प्रदर्शन किया. समाजवादी पार्टी, बसपा और कांग्रेस ने भी राजनीतिक रोटियां सेकीं.

यूपी के हाथरस में दलित युवती के साथ निर्भया जैसी हैवानियत पर सियासत गरमा गई है. सोशल मीडिया पर लोगों का आक्रोश झलक रहा है. यूपी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने उत्‍तर प्रदेश पुलिस की इस हरकत को कायराना बताया है.

बता दें कि हाथरस जिले के चंदपा थाने के गांव में 14 सितंबर की सुबह 19 साल की लड़की के साथ गैंगरेप किया गया. घटना के 9 दिन बाद लड़की को होश आया तो इशारों से अपना दर्द बयान किया. पीड़िता को पहले अलीगढ़ में इलाज के लिए भेजा गया और वहां हालात बिगड़ने पर उन्हें दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में भेजा गया. मंगलवार को पीड़िता ने दम तोड़ दिया.