यूपीः कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण का कानपुर के भैरोघाट पर होगा अंतिम संस्कार

कानपुर, यूपी।

उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण का रविवार को निधन हो गया. बीती 18 जुलाई को वह कोरोना से संक्रमित पाई गई थीं. उनका इलाज लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान (SGPGI) में चला रहा था.

नगर निगम से लेकर संसद तक कानपुर की जनता की आवाज उठाने वाली कमल रानी वरुण की मौत की खबर सुनते ही घाटमपुर से लेकर कानपुर शहर तक में शोक की लहर दौड़ पड़ी.

जिलाधिकारी डॉ. बीआरडी तिवारी ने भी दुख व्यक्त करते हुए कहा कि उनकी अकास्मिक मृत्यु पर पूरा जिला प्रशासन दुख की इस घड़ी में उनके परिजनों के साथ है.

घाटमपुर विधानसभा सीट से पहली बार बीजेपी को जीत दिलाने वाली कमल रानी वरुण राजनीति में आने से पहले राष्ट्रीय स्वयं सेवक की सक्रिय सदस्य रही. कभी बूथों पर पर्ची काटने वाली कमल रानी वरुण नगर निगम से लेकर देश की संसद तक में कानपुर की आवाज उठाई.

वर्तमान में उत्तर प्रदेश सरकार में प्राविधिक शिक्षा मंत्री रहते हुए भी बेहतर कार्य कर रही थी. कोरोना काल में भी घाटमपुर विधानसभा में कोई भूखा न सोये इसको लेकर बराबर प्रयासरत थी. 

रविवार को उन्होंने लखनऊ SGPGI में अंतिम सांस ली. कानपुर के जिलाधिकारी ने बताया कि भैरो घाट पर कोरोना गाइडलाइन के अनुसार उनका अंतिम संस्कार कराया जाएगा.

हिन्दुस्थान समाचार/अजय

Leave a Reply

%d bloggers like this: