झारखंड एक बार फिर स्थिर सरकार की ओर बढ़ रहा: धर्मेंद्र प्रधान

रांची, झारखंड।

केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि पहले चरण के मतदान से बीजेपी उत्साहित है और अकेले अपने दम पर 65 से अधिक सीटें जीतकर पार्टी झारखंड में सरकार बनाएगी.

उन्होंने कहा कि नक्सलियों के आह्वान के बावजूद जमकर मतदान हुआ. फिर झारखंड एक बार स्थिर सरकार की ओर बढ़ रहा है. प्रधान रविवार को बिष्टुपुर में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे.

उन्होंने कहा कि पिछले पांच सालों में जिस प्रकार विकास के कार्य हुए हैं, उससे सामान्य लोगों के मन में सभी समूह में बीजेपी के प्रति भरोसे का संबंध बना है. प्रतिद्वंदी पार्टियां समाज में डर और भय पैदा कर रहीं हैं. उनके पास कोई ठोस मुद्दा नहीं है. अस्थिर सरकार से गरीबों का बहुत नुकसान होता है.

प्रधान ने कहा कि पांच साल की स्थिर सरकार को केंद्र सरकार से भी पर्याप्त वित्तीय सहायता मिली. इसलिए विकास के ढेर सारे काम हुए. झारखंड और भी विकास का हकदार है. इसलिए फिर एक बार स्थिर सरकार बनानी होगी.

उन्होंने कहा कि 2022 तक सबके सिर पर पक्का मकान, घर घर पीने का शुद्ध पानी, स्वास्थ्य की और उत्तम व्यवस्था बनाना है. इसलिए हम जनता से डबल इंजन की सरकार का निवेदन कर रहे हैं. कोल्हान उड़िया भाषा भाषियों की पट्टी है. उड़िया समाज के लोग बीजेपी के साथ हैं. 

आजसू के सवाल पर उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव तक आजसू हमारे गठबंधन का हिस्सा थी. विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां अलग-अलग लड़ रहे हैं. कुछ सीटों पर फ्रेंडली फाइट भी हो रही है. उन्होंने कहा कि आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो हमारे मित्र हैं और भाई जैसे हैं. 

नक्सलवाद के सवाल पर उन्होंने कहा कि नक्सलवाद को समाप्त करने में सरकार ने बहुत हद तक सफलता पाई है. नक्सलियों के बायो काट को तोड़कर लोगों ने वोट दिए हैं. नक्सलियों के दिन अब लग रहे हैं. हमारे दरवाजे सभी के लिए खुले हैं, लेकिन संविधान के दायरे में. इसलिए नक्सलियों को भी यह समझना होगा और मुख्यधारा में आना होगा. 

ओवैसी के सवाल पर उन्होंने कहा कि ओवैसी हमारे लिए कोई राजनीतिक फैक्टर नहीं है. मंदी के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकार की ओर से उठाए गए कदमों के कारण मंदी का असर धीरे-धीरे कम हो रहा है. अस्थाई है इसके वैश्विक कारण है. इसलिए डरने वाली कोई बात नहीं है. 

न्यूनतम जीडीपी दर के सवाल पर उन्होंने कहा कि इस समय पूरे विश्व के कई देशों की जीडीपी घट रही है. दुनिया के कई देश तो नेगेटिव जीडीपी ग्रोथ में है. इसके बावजूद भारत सुधार की ओर बढ़ रहा है और यह कमी सरकार के किसी कदम के कारण नहीं आई है. 

हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण

Leave a Reply

%d bloggers like this: