नया कानून बनने के बाद हरियाणा में दर्ज हुआ तीन तलाक से जुड़ा पहला केस

हरियाणा. तीन तलाक पर विधेयक भले ही संसद से पारित हो चुका है लेकिन इसके बावजूद ऐसी घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. हरियाणा से ऐसा ही एक मामला सामने आया है. पत्नी की शिकायत पर पुलिस ने पति को आरोपी मानते हुए मामले दर्ज किए.

महिला ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है. उसने पति और ससुरालवालों पर प्रताड़‍ित करने का आरोप भी लगाया. पहला मामला हरियाणा के नूहं जिले का है. पुलिस ने ‘द मुस्लिम वीमेन प्रोटेक्शन ऑफ राइट एंड मैरिज एक्ट 2019’ के तहत जांच शुरू कर दी है.

साजिदा ने पुलिस को अपनी शिकायत में बताया है कि दो साल पहले उसकी शादी ढाडोली निवासी सलाउद्दीन से हुई थी. साजिदा का आरोप है कि शादी के बाद से ही उसका पति व उसके परिवार वाले दहेज के लिए तंग करते थे.

जिस वजह से पीड़िता ने परिवार वालों के खिलाफ नगीना थाना में दहेज व मारपीट का मामला दर्ज करवाया. इसके साथ ही महिला ने आरोप लगाया कि उसके पति ने उसकी मां के पास फोन किया और कहा कि तेरी लड़की ने मेरे व मेरे परिवार वालों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवाया है.

इसलिए अब मैं तेरी लड़की को तलाक दे रहा हूं. उसने फोन पर तीन बार तलाक, तलाक, तलाक कहां और बोला कि जा मैंने तेरी लड़की को तलाक दे दिया. वहीं इस मामले में आरोपी पति ने उसे जान से मारने की धमकी भी दी.

नगीना थाना पुलिस ने अब मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. डिस्ट्रिक्ट पुलिस कप्तान संगीता कालिया नूंह ने कहा कि संसद द्वारा एक अधिनियम को मंजूरी देने के बाद राज्य में दर्ज किया गया यह पहला मामला है.

लोकसभा में मुस्लिम महिला (विवाह अधिकार संरक्षण) विधेयक को पिछले सप्ताह पारित किया गया था. जिसके बाद ये बिल राज्यसभा में आसानी से पारित हो गया. राष्ट्रपति के इसे मंजूरी देने के बाद अब आरोपी पुरुष को तीन साल तक की सजा हो सकती है.

Leave a Reply

%d bloggers like this: