पेट्रोल-डीजल के 18 दिनों का उछाल 18 साल पर भारी, जानिए आपके शहर का भाव

517153-petrol-diesel
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. आज लगातार 19वें दिन पेट्रोल और डीजल के दाम में बढ़ोतरी देखने को मिल रही है. आज जहां पेट्रोल की कीमतों में 16 पैसे की बढ़ोतरी देखने को मिल रही हैं. वहीं दूसरी तरफ डीजल की कीमतों में 14 पैसे का इजाफा हुआ है. पिछले 19 दिनों में दिल्ली में डीजल की कीमत में 10.64 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी हुई है जबकि पेट्रोल भी 8.64 रुपये महंगा हुआ है.

पेट्रोल और डीजल की नई दरें –

देश की राजधानी दिल्ली में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 16 पैसे बढ़कर 79.92 रुपये हो गई है. वहीं 14 पैसा प्रति लीटर डीजल महंगा होकर अब 80.02 रुपये पर पहुंच गया है. अब बात अगर देश के अन्य शहरों की जाये तो दिल्ली, मुंबई, कोलकाता  और चेन्नई में भी पेट्रोल और डीजल के दामों में बढ़ोतरी देखने को मिली है…

 पेट्रोल और डीजल के रेट इस प्रकार रहे..

शहरपेट्रोल (रुपये/लीटर)डीजल (रुपये/लीटर)
दिल्ली79.9280.02
मुंबई86.778.14
चेन्नई83.1877.29
कोलकाता81.6175.18

पेट्रोल से महंगा डीजल –

 देश की राजधानी में डीजल पेट्रोल से भी ज्यागा महंगा बिक रहा है. जबकि अन्य शहरों में डीजल की कीमत पेट्रोल से कम ही है.. इसका कारण ये है कि दिल्ली सरकार ने पांच मई को डीजल पर वैट की दर 16.75 से बढाकर 30 फीसदी और पेट्रोल पर 27 प्रतिशत से बढाकर 30 फीसदी कर दिया. दिल्ली ने डीजल पर शुल्क में करीब 13.25 फीसदी का इजाफा किया. यह शुल्क पेट्रोल-डीजल पर मूल्य के अनुसार लगता है, ऐसे में कीमतें तेजी से बढ़ रही हैं.

18 दिनों में आया अच्छा-खासा उछाल –

ये बात तो हम सभी जानते है कि पेट्रोल और डीजल के दाम 82 दिनों तक कोरोना और लॉकडाउन के कारण स्थिर रहे थे. इनमें किसी भी तरह का कोई बदलाव देखने को नहीं मिला था. पेट्रोल और डीजल के दामों में ये बढ़ोतरी का सिलसिला सात जून से शुरू हुआ है. पिछले 18 दिनों में पेट्रोल-डीजल में आया उछाल वर्ष 2002 के बाद सबसे बड़ा है. पिछले 18 साल में हर 15 दिन में अधिकतम 4-5 रुपये की बढ़ोतरी ही हुई. रोज कीमत तय करने की व्यवस्था मई 2017 से लागू हुई.

तेजी से बढ़ती पेट्रोल और डीजल की कीमतें आम आदमी की कमर तोड़ रही है. जिस पर एक्सपर्ट का कहना है कि तेल की कीमतों में यह वृद्धि अभी और जारी रह सकती है. क्योंकि आर्थिक गतिविधियां शुरू होने से मांग बढ़ी है.