टॅापर बनने के लिए यहां से लें टिप्स

नई दिल्ली. बोर्ड एग्जाम फरवरी से हैं, जिसकी उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है. एग्जाम शुरू होने में सिर्फ दो महीनों का समय शेष बचा है. सीबीएसई की ओर से डेटशीट जारी होने के बाद अब छात्र एग्जाम के लिए साल भर की गई तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे हैं. आखिरी दो महीनों में छात्र जी-जान से तैयारी और रीविजन कर रहे हैं. आप भी इस वर्ष बोर्ड एग्जाम देंगे और बेहतर प्रदर्शन करने के इच्छुक हैं तो किस प्रकार तैयारी करें, देखें यहां-
टाइम मैनेजमेंट जरुरी
एग्जाम में अच्छे अंक लाने के लिए टाइम मैनेजमेंट करना बेहद जरूरी है. एग्जाम से पहले किस विषय को कितना समय देना है यह व्यवस्थित करें। कठिन या कमजोर पकड वाले विषयों पर अधिक ध्यान दें. टाइम मैनेजमेंट भी इस प्रकार करें कि सभी विषयों पर समानरूप से ध्यान दे पाएं. एग्जाम के दौरान तीन घंटों को भी टाइम मैनेजमेंट के जरिए बांटे. हर सेक्शन को कितना समय देना है यह तय करें.
सिलेबस के हिसाब से करें तैयारी
बीना सिलेबस की जानकारी के पढाई न करें. पहले सिलेबस देखें. इसके बाद तैयारी शुरू करें. इससे आप अनावश्यक सामग्री को पढ़ने से बचेंगे. अपने सिलेबस को पहले ध्यानपूर्वक पढ़े। यह जांचे कि परीक्षा में किस टॉपिक से संबंधित प्रश्न पूछे जाएंगे, उसी के अनुसार मेहनत करें. ऐसा करना टॉपर बनने की दिशा में कारगर कदम साबित हो सकता है.
रिवीज़न करना न भूलें
सिलेबस पूरा होने के बाद अगर रिवीजन किया जाए तो परीक्षा में सफल होने की संभावना कई गुणा बढ जाती है. अधिकतर बार ऐसा होता है कि छात्र पढाई करते है, लेकिन अंतिम समय में रिवीजन नहीं कर पाते हैं. ऐसे में कई बार पढे हुए टॅापिक्स भी भूल जाते हैं. इसलिए पढे हुए टॅापिक्स का रिवीजन जरूर करें. किसी भी विषय का रिवीजन करने के लिए अपने पास समय जरूर बचा के रखें.
लिखकर करें परीक्षा की तैयारी
परीक्षा लिखित रुप में है तो तैयारी भी लिखित रुप से करें. लिखकर याद करने को अधिक प्रभावशाली बताया गया है. मौखिक रूप से भी तैयारी की जा सकती है. यह अधिक प्रभावी तरीका नहीं माना जाता. हालांकि याद करने का तरीका हर छात्र का अलग हो सकता है, लेकिन किसी भी लेख को लिखकर याद करना आपके लिए ज्यादा फायदेमंद साबित होगा.

%d bloggers like this: