Tik Tok ने कोर्ट में निषेधाज्ञा के लिए दाख़िल की याचिका

TIK TOK
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

सैन फ्रांसिस्को, 24 सितम्बर (हि.स.). बहुचर्चित बाइटडाँस के लोकप्रिय एप ‘Tik Tok’ ने बुधवार को यहाँ की एक ज़िला अदालत में ट्रम्प प्रशासन के खिलाफ प्रारंभिक निषेधाज्ञा जारी किए जाने का आवेदन किया है.

याचिका में कहा गया है कि इसका उद्देश्य कानूनी पैंतरेबाज़ी से बचाव और अमेरिका में इस बहुउद्देश्य एप वाली कंपनी की सेवा के लिए रक्षा करना है.

जिला न्यायालय में दायर याचिका में ट्रम्प प्रशासन के वाणिज्य विभाग के नियमों के जवाब में कहा गया है कि ट्रम्प प्रशासन ने इस एप पर 20 सितम्बर तक अमेरिका में प्रतिबंध लगाए जाने की बात की थी.

इसे अमेरिकी उपयोगकर्ताओं के लिए रविवार तक अपने संबंधित एप स्टोर से टिकटाक एप को हटाने अथवा डाउनलोड किए जाने और सॉफ़्टवेयर अपडेट प्रदान करने के लिए रोक लगाई गई थी.

उल्लेखनीय है कि टिकटाक एक चीनी इंटरनेट कंपनी ‘बाइटडांस’ के स्वामित्व में है. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा है कि जब तक टिकटाक पर चीनी स्वामित्व वाली बाइटडाँस का शिकंजा नहीं हटाया जाएगा, वह देश की सुरक्षा कारणों से इसे अमेरिका में संचालन की इजाज़त नहीं दे सकते.

इसके लिए राष्ट्रपति गत अगस्त में एक कार्यकारी आदेश जारी कर पहले ही कह चुके हैं कि बाइटडाँस अपने सभी अधिकार अमेरिका में बेच दे. ओरेकल और वालमार्ट के साथ बाइटडाँस के बीच एक समझौता भी हुआ था लेकिन बाइटडाँस ने अपने हिस्से में 80 प्रतिशत अंश रखते हुए स्वामित्व के संपूर्ण अधिकार अपने पास रखे, जो ट्रम्प प्रशासन को नागवार है.

हिन्दुस्थान समाचार/बच्चन