#CYCLONEFANI : आंधी में उड़ा पुलिस सहायता केंद्र, कई जिलों में कड़क रही बिजली

चक्रवाती तूफान फानी पश्चिम बंगाल में भी अपना प्रभाव दिखाने लगा है. राज्य के विभिन्न इलाकों में तेज आंधी के साथ बारिश होने की खबर है. 

शुक्रवार सुबह तेज आंधी की वजह से पश्चिम मेदिनीपुर जिले के शंकरपुर में एक बिजली का पोल उखड़ गया. इसके कारण शंकरपुर का एक बड़े इलाके में बिजली नहीं आ रही है.

पुलिस सहायता केंद्र उड़ा

बताया जा रहा है कि न्यू दीघा के खानिकाघाट इलाके में स्थित एक पुलिस सहायता केंद्र भी चक्रवाती तूफान में उड़ गया. पूर्व मेदिनिपुर जिले के कांथी महकमा स्थित तटीय इलाकों के पांच ब्लॉकों में कच्चे मकान में रहने वाले लोगों को बचाव शिविरों में लाकर रखा गया है. 

बताया जा रहा है कि कोलकाता, सुंदरवन, हावड़ा, बांकुड़ा, हुगली सहित कई इलाकों में बिजली कड़कने के साथ बारिश शुरू हो गई है. सुबह से ही आसमान में काले बादल छाये रहे.

बारिश के कारण लोग अपने घरों में कैद हैं. बांकुडा, हुगली, दक्षिण 24 परगना में लोगों को माइकिंग के द्वारा सचेत किया जा रहा है. 

दोपहर एक बजे के बाद से नदियों में नावों के आवागमन पर अगले आदेश तक रोक लगा दी गई है. मछुआरों को नदी और समुद्र में नहीं उतरने के निर्देश दिये गये हैं. 

राज्यपाल ने की ये अपील

घातक चक्रवाती तूफान को लेकर पश्चिम बंगाल के राज्यपाल केशरी नाथ त्रिपाठी ने शुक्रवार को कहा है कि उन्हें विश्वास है कि केंद्र व राज्य की सरकारें मिलकर चक्रवाती तूफान का मुकाबला कर लेंगी.

उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि ओडिशा और पश्चिम बंगाल सरकार तथा केंद्र की सरकारें एक दूसरे के साथ समन्वय बनाकर जितना अधिक संभव हो सके उतना अधिक जानमाल के नुकसान को टालेंगी और चक्रवात से पीड़ित हुए लोगों को हर तरह की सहायता करेंगी.

घातक चक्रवाती तूफान फानी ओडिशा के समुद्र तट से टकरा चुका है और करीब 175 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल रही हैं. इसके असर से पश्चिम बंगाल में भारी बारिश की शुरुआत हुई है.

हिन्दुस्थान समाचार/धनंजय/ओम प्रकाश/मधुप

%d bloggers like this: