छपरा

सदर प्रखंड के डुमरिया स्वास्थ्य उपकेंद्र पर कार्यरत एएनएम आभा कुमारी के साथ दुर्व्यवहार करने तथा जान से मारने की धमकी देने के विरोध में सभी एएनएम के हड़ताल पर जाने के दूसरे दिन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी एक्शन में आ गए.

इस मामले में एएनएम के साथ दुर्व्यवहार करने तथा जान से मारने की धमकी देने के आरोप में मुखिया पुलिस राय के खिलाफ गुरुवार को मुफस्सिल थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गयी. एएनएम आभा कुमारी की लिखित शिकायत के आलोक में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी ने प्राथमिकी दर्ज करायी है.

आरोप है कि 8 मई को एएनएम के साथ मुखिया ने दुर्व्यवहार किया था और जान से मारने की धमकी दी थी, लेकिन इस संबंध में एएनएम के द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज करने के लिए आवेदन दिया जिस पर पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की.

इससे आक्रोशित होकर सदर प्रखंड के सभी एएनएम ने बुधवार को हड़ताल शुरू कर दी. इसके पहले मंगलवार को सभी एएनएम ने सिविल सर्जन कार्यालय के समक्ष प्रदर्शन कर मुखिया के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी और कार्रवाई नहीं होने पर हड़ताल शुरू करने की चेतावनी दी थी.

गुरुवार को  सभी एएनएम हड़ताल पर चली गई, जिसके कारण सदर प्रखंड के सभी स्वास्थ्य उप केंद्रों और आंगनबाड़ी केंद्रों पर नियमित टीकाकरण का कार्य बाधित हो गया. तब जाकर विभागीय अधिकारियों की नींद खुली और गुरुवार को जिला मुख्यालय से अधिकारियों ने पहुंचकर हड़ताली एएनएम के साथ वार्ता की.

उनकी मांगों के आलोक में प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के द्वारा मुखिया के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराई गई. इस संबंध में पूछे जाने पर मुफस्सिल थानाध्यक्ष पुलिस निरीक्षक धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है और इसकी जांच की जा रही है. हड़ताली चिकित्सा कर्मियों का कहना है कि इस घटना के विरोध में सभी स्वास्थ्य केंद्रों पर काम-काज दूसरे दिन गुरूवार को भी बाधित है और सभी चिकित्साकर्मी सदर प्रखंड मुख्यालय में उपस्थित रहकर विरोध प्रदर्शन कर रही हैं.

हिन्दुस्थान समाचार / गुड्डू