चाय की चुस्की और पकौड़ों की खुशबू से तरोताजा हो रहे नमो चौकीदार

  • बल्कि आज चाय और पकौड़ों इतने मशहूर हो चूके हैं कि बीजेपी के कार्यकर्ता इन्ही से अपनी थकान मिटाकर तरोताजा हो रहे हैं
  • कार्यकर्ता एक-दूसरे को पकौड़े खिलाकर ‘मैं भी हूं नमो चौकीदार’ की हुंकार भरते हैं

नई दिल्ली. कांग्रेस ने बेशक चाय और पकौड़ों का जमकर मजाक उड़ाया है पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भी इन्हें बेहद ही मशहूर कर दिया है. आज हर किसी की जुबां पर चाय और पकौड़ों का नाम है.

मशहूर हुए चाय और पकौड़ों-कांग्रेस ने संसद के सामने पकौड़े तलकर प्रधानमंत्री को घेरने की कोशिश जरूर की मगर इसका उन्हे ज्यादा फायदा होता नजर नहीं आया.बल्कि आज चाय और पकौड़ों इतने मशहूर हो चूके हैं कि बीजेपी के कार्यकर्ता इन्ही से अपनी थकान मिटाकर तरोताजा हो रहे हैं.

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के हर चुनाव कार्यालय में चाय और पकौड़ों का पुख्ता इंतजाम किया गया है.

भाजपा ने किया ये काम-भाजपा ने चाय और पकौड़ों को ब्रांड बना दिया है. भाजपा ने 10 संसदीय क्षेत्रों के मुख्यालयों में कार्यकर्ताओं के लिए चाय और पकोड़ों की व्यवस्था की है. कार्यकर्ता प्रचार पर निकलने से पहले सुबह चाय की चुस्की और पकौड़ों का स्वाद चखते हैं.

इसके बाद भाजपा की नीतियों को घर-घर पहुंचाने में जुट जाते हैं. रात को लौटने पर दिनभर की थकावट पकौड़ों की ताजगी दूर कर रही है.बीजेपी का हर कार्यकर्ता आज न सिर्फ चाय और पकौड़ों के मजे ले रहा है बल्कि उसे ज्यादा से ज्यादा मशहूर करने में भी लगा है.

कार्यकर्ता ले रहे चाय और पकौड़ों का मजा- कुरुक्षेत्र लोकसभा सीट से उम्मीदवार नायब सैनी के चुनाव कार्यालय में चाय और पकौड़ों का विशेष प्रबंध किया गया है. कार्यकर्ता एक-दूसरे को पकौड़े खिलाकर ‘मैं भी हूं नमो चौकीदार’ की हुंकार भरते हैं.

चुनाव कार्यालयों में आलू पकौड़ा, पालक पकौड़ा, गोभी पकौड़ा, आलू-प्याज पकौड़ा, ब्रेड पकौड़ा और पनीर पकौड़ा के अलावा आलू-पूरी के साथ छोले-भटूरे भी परोसे जा रहे हैं.

उम्मीदवार भी चखते हैं स्वाद-बीजेपी के उम्मीदवार भी पकौड़ों का स्वाद चखने से पीछे नहीं रहते. हर कार्यक्रम में चाय और पकौड़ों का विशेष इंतजाम होता है. उम्मीदवार चाय और पकौड़ों की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों का बखान करते हैं.

उम्मीदवार कहते हैं देश का प्रधानमंत्री चाय बेचने वाला है और विपक्ष उनका मजाक उड़ा रहा है. कार्यकर्ता ने परिवारवाद की राजनीति को खत्म करते हुए दोबारा चायवाले को प्रधानमंत्री बनाने की अपील करते हैं.

लोगों की पहली पसंद बने चाय और पकौड़ों –मुख्यमंत्री के मीडिया सलाहकार राजीव जैन का कहना है कि विपक्ष ने चाय-पकौड़े को लेकर खूब हल्ला मचाया है. मगर आज चाय और पकौड़ा इतनी लोकप्रियता पा चुका है कि यह लोगों की पहली पसंद बन गया है. चुनाव चर्चा बिना इनके अधूरी होती है.

जनता ने विपक्ष की राजनीति को नकारते हुए चाय और पकौड़े को पसंद किया है. चाय-पकौड़ा कार्यकर्ताओं की खास पसंद है. इससे न केवल थकान दूर होती है बल्कि कार्यकर्ता तरोताजा भी हो जाते है.

Trending Tags: Loksabha Election 2019, Election 2019, Tea sour, The Tea Source, Bjp Candidate, Bjp 2019, Pm Modi, Congress 2019, Aaj Ka Samachar, Hindi Samachar.

%d bloggers like this: