INSPIRE Award Scheme में देश में दूसरे स्थान पर रहा ये जिला

01 दिसम्बर
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान में राष्ट्रीय स्तर पर पहचान बनाने वाला झुंझुनू जिला इस बार भी राष्ट्रीय स्तर पर चमका है‌. इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के अंतर्गत देश में दूसरा स्थान प्राप्त कर नया रिकॉर्ड बनाया है. इसके लिए अब तक राजस्थान का कोई जिला टॉप 100 में भी नहीं रहा.

लेकिन झुंझुनू ने राजस्थान में प्रथम रहते हुए देश में दूसरे स्थान पर अपना नाम दर्ज कराया है. इंस्पायर अवार्ड में राजस्थान के कुल 25 हजार विद्यार्थियों में से कुल 2019 का चयन हुआ है. जिनमें से अकेले झुंझुनू जिले से 661 विद्यार्थियों का चयन हुआ है. जो पूरे भारत में दूसरे नबंर पर रहा है.

इनमें राजस्थान के 33 जिलों के कुल चयन का 33 प्रतिशत से अधिक पर अकेले झुंझुनू का कब्जा रहा है, जिसे अभूतपूर्व उपलब्धि कहा जा सकता है. इस योजना के अंतर्गत इन विद्यार्थियों को अब दस-दस हजार रुपये मिलेंगे. इसके बाद जिलास्तरीय प्रदर्शनी व राज्यस्तरीय प्रदर्शनी में चयनित होने पर 25-25 हजार रुपये और मिलेंगे. इंस्पायर अवार्ड योजना में अब ये विद्यार्थी बाल वैज्ञानिक कहलाएंगे.

इंस्पायर अवार्ड मानक योजना के तहत आंध्रप्रदेश का कृष्णा जिला देश में प्रथम रहा है. कृष्णा के 701 विद्यार्थियों का चयन हुआ है. इसके बाद महाराष्ट्र के नासिक जिले से 649 चयन होने पर तीसरे एवं पुणे जो 617 विद्यार्थियों को चयनित कर चौथे स्थान पर रहा है. इंस्पायर अवार्ड मानक योजना जिला प्रभारी एवं एडीईओ कमलेश कुमार तेतरवाल ने बताया कि छात्रवृत्ति टीम के सतत प्रोत्साहन एवं जिले के शिक्षा विभाग के अधिकारियों एवं कर्मचारियों की संख्यात्मक सफलता थी. जिस पर घोषित परिणाम ने गुणवत्ता सफलता पर मुहर लगाई.

सीकर में आयोजित राज्यस्तरीय विज्ञान मेले में शिक्षामंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, माध्यमिक शिक्षा नथमल डिडेल ने झुंझुनू की इस उपलब्धि पर विद्यार्थियों सहित सभी को बधाई दी. मुख्य जिला शिक्षा अधिकारी झुंझुनू घनश्यामदत्त जाट का कहना है कि जिले का नाम राष्ट्रीय स्तर पर दर्ज करवाने पर इंस्पायर अवार्ड अभियान से जुड़े सभी अधिकारी-कर्मचारियों को बधाई व शुभकामनाएं देता हूं तथा भविष्य में और अधिक ऊर्जा से काम करने की अपेक्षा रखता हूं.

हिन्दुस्थान समाचार/रमेश

Leave a Reply