इंग्लैंड-पाकिस्तान टेस्ट श्रृंखला में थर्ड अंपायर के पास होगा फ्रंट फुट नो बॉल की निगरानी करने का अधिकार

final-no-ball
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच आज से शुरू हो रहे तीन टेस्ट मैचों की श्रृंखला में थर्ड अंपायर के पास फ्रंट फुट नो बॉल की निगरानी करने का अधिकार होगा. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) ने बुधवार को इसकी पुष्टि की.

आईसीसी ने एक बयान में कहा, ” टेस्ट क्रिकेट को देखते हुए कोई भी निर्णय लेने से पहले इस टेस्ट श्रृंखला में फ्रंट-फुट नो बॉल तकनीक को आजमाया जाएगा. इंग्लैंड-पाकिस्तान श्रृंखला के जरिए आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में फ्रंट फ़ुट नो-बॉल तकनीक का उपयोग किया जाना है.”

आईसीसी ने कहा, “टेस्ट क्रिकेट में भविष्य में इस तकनीक के इस्तेमाल पर लिए गए किसी भी फैसले से पहले इन टेस्ट में तकनीक के प्रदर्शन की समीक्षा की जाएगी.”

गौरतलब है कि इंग्लैंड और पाकिस्तान के बीच आज से तीन मैचों की टेस्ट श्रृंखला का आगाज होगा. ये टेस्ट श्रृंखला विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप का हिस्सा है.

पिछले साल भारत-वेस्टइंडीज श्रृंखला में भी फ्रंट फुट नो बॉल तकनीक का ट्रॉयल के तौर पर इस्तेमाल किया गया था. आईसीसी ने पिछले साल एक बयान में कहा था, ‘पूरे ट्रॉयल के दौरान, थर्ड अंपायर गेंदबाज की हर गेंद की निगरानी करने और यह पहचानने के लिए जिम्मेदार होगा कि क्या कोई फ्रंट फुट का उल्लंघन हुआ है. अगर सामने के पैर में कोई उल्लंघन हुआ है, तो थर्ड अंपायर ऑन-फील्ड अंपायर से बातचीत करेगा, जिसे बाद में नो बॉल करार कर दिया जाएगा.”

हिन्दुस्थान समाचार/सुनील