Makalu Mountain

दुनिया के पांचवे सर्वोच्च पर्वतशिखर मकालू से उतरते समय गुरुवार रात एक और भारतीय पर्वतारोही की मौत हो गई. इसके साथ नेपाल में मरने वाले भारतीय पर्वतारोहियों की संख्या तीन हो गई है.

समाचार पत्र हिमालयन टाइम्स के मुताबिक, नेपाल पर्यटन मंत्रालय की अधिकारी मीरा आचार्या ने बताया कि पर्वतारोही की मौत कैंप 4 के पास हुई. मृतक पर्वतारोही की पहचान नारायण सिंह के रूप में हुई.

इसके अलावा कोलकाता के पर्वतारोही दीपंकर घोष नेपाल में माउंट मकालू के एक हाई कैंप से लापता हो गए हैं. नेपाल स्थित दुनिया के पांचवें सर्वोच्च पर्वत शिखर पर चढ़ाई के अभियान के दौरान मकालू पर्वत शिखर से नीचे उतरते समय भारतीय पर्वतारोही दीपंकर घोष लापता हो गए हैं.

आचार्या ने बताया कि यह कैंप मकालू पर्वत पर स्थित है. इससे पहले बुधवार को दो भारतीय पर्वतारोही बिप्लव बैद्य और कुन्तल कुमार की मौत हो गई थी. अभियान दल के आयोजकों ने बताया कि दोनों भारतीयों को बचाने की काफी कोशिस की गई पर उनको नहीं बचाया जा सका. दोनों भारतीयों में से एक ने दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी को फतेह कर लिया था, जबकि दूसरे पर्वतारोही की रास्‍ते में तबियत खराब हो गई थी और उसने वहीं दम तोड़ दिया.

मकालू विश्व की पांचवीं सबसे ऊंची चोटी है. यह एवरेस्ट पर्वत से 19 किलोमीटर दक्षिण पूर्व महालंगूर हिमालय पर्वतमाला में नेपाल और तिब्बत स्वायत्त क्षेत्र के बीच सीमा पर स्थित है.

मार्च से जून के अंत तक दुनिया भर से कई पर्वतारोही दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंअ एवरेस्ट पर चढ़ाई के लिए नेपाल आते हैं. इस दौरान हादसे भी होते रहे हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/सुप्रभा