सावन के महीने में भूलकर भी न करें ये काम, वर्ना झेलना पड़ेगा भोले का प्रकोप….

मेघों से बरसती बारिश की बूंदे, उस पर देवों के देव महादेव की भक्ति में डूबे कावंडियों की बम-बम भोले की गूंज वातावरण को शिवमय कर देती है.

हिन्दू धर्म में सावन के महीने को बहुत ही पवित्र माना गया है.. ये भगवान शिव का प्रिय महीना है…सभी शिव भक्त इस दौरान भगवान शंकर की पूजा करते हैं.. भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए भक्त कावड़ यात्रा पर निकलते हैं और तमाम धार्मिक जगहों पर पैदल यात्रा करते हैं… 

सावन के महीने में लाखों श्रद्धालु ज्योर्तिलिंग के दर्शन के लिए हरिद्वार, काशी, उज्जैन, नासिक समेत भारत की कई धार्मिक जगहों पर जाते हैं…आइये जानते हैं इस बार क्यों खास है सावन का महीना…

Lord shiva
Lord shiva

इस बार सावन का महीना बेहद खास है… क्योंकि 19 साल बाद ऐसा संयोग बन रहा है कि सावन का महीना पूरे 30 दिन तक चलेगा…

पौराणिक कथाओं की मानें तो जो व्यक्ति सावन में भगवान शिव की पूजा करता है उसकी मनोकामनाएं पूरी होती है…भगवान शिव के साथ-साथ मां पार्वती की भी पूजा की जाती है… ऐसा माना जाता है कि जो भक्त शिव-पार्वती की पूजा करते हैं उन पर भगवान की असीम कृपा होती है….

पुराणों में कहा गया है बाकी दिनों के मुकाबले सावन के दिनों में भोलेशंकर की पूजा करने से कई गुना लाभ मिलता है… आइए जानते हैं इस महीने  कौन से काम करने चाहिए और कौन से नहीं…

ये महीना भक्ति का है, इसलिए शास्त्रों में कुछ ऐसे काम बताए गए हैं, जो इस महीने में नहीं करने चाहिए… जो लोग ऐसा करते हैं वो हमेशा परेशानियों से घिरे रहते हैं… और उन पर भगवान शंकर की कृपा नहीं होती. ऐसा सिर्फ धार्मिक दृष्टि से ही नहीं, बल्कि इसके साइंटिफिक रीजन भी हैं..

sawan

सावन का महीना इसलिए भी खास है क्योंकि कुंवारी लड़कियां अच्छा पति पाने के लिए व्रत रखती हैं, तो कहीं लड़के भी अच्छी पत्नी के लिए व्रत रखते हैं…..शादीशुदा महिलाएं भी हैप्पी मैरिड लाइफ के लिए फास्ट रखती हैं…. तो आइए हम आपको बताते हैं सावन में ब्रत रखते समय क्या करना चाहिए और क्या नहीं..

मन में ना लाएं बुरे विचार

खासतौर से एक महिला के लिए मन में कोई बुरे विचार ना रखें…. ऐसा करने से आपका मन शिव भक्ति में नहीं लगेगा और आप मानसिक रूप से शांत नहीं रह पाएंगे. ..महिलाओं का सम्मान करने वाले पुरुष भगवान शिव को जल्दी खुश करते हैं.. धर्म संबंधी किताबों का पाठ करना चाहिए जिससे बुरे विचार दूर होंगे

शिवलिंग पर ना चढ़ाएं हल्दी-

ऐसा कहा जाता है कि सावन के महीने में शिवलिंग पर हल्दी नहीं चढानी चाहिए. हल्दी मां पार्वती को चढ़ाई जाती है….इसलिए शिवलिंग पर हल्दी न चढाएं…

डेयरी प्रॉडक्ट से रहें दूर

डेयरी प्रॉडक्ट जैसे दूध, पनीर, दही, कच्चा दूध का सेवन वात दोष बढ़ाता है… इसलिए कहा जाता है कि सावन में दूध नहीं पीना चाहिए….जिसके कारण हेल्थ से जुड़ी Problems हो सकती हैं.

सावन में न खाएं बैंगन सावन के महीने में बैंगन नहीं खाना चाहिए….इसका  धार्मिक और वैज्ञानिक दोनों ही रीजन भी हैं…. बारिश के मौसम में बैंगन में ज्यादा कीड़े भी लगते हैं. ऐसे में बैंगन से दूरी बनानी चाहिए…. हालांकि शास्त्रों में कार्तिक मास का व्रत रखने वाले लोगों के लिए बैंगन का सेवन वर्जित बताया गया है…

नॉनवेज से करें परहेज

सावन में कई ऐसी चीजें हैं जो नहीं खानी चाहिए…..खास कर नॉनवेज. हिंदू धर्म की मान्‍यताओं के अनुसार सावन के महीने में किसी जीव की हसावन में कई ऐसी चीजें हैं जो नहीं खानी चाहिएत्या करना पाप है… नॉनवेज न खाने को लेकर कई धार्मिक मान्यताएं प्रचलित हैं. लेकिन इसे लेकर विज्ञान भी अपने तर्क देता है…  

तो आप भी हो जाइए भोले की भक्ति में लीन.. आनंद लीजिए इस सुहाने और पवित्र महीने का पर.सावधानियों के साथ…

Leave a Comment

%d bloggers like this: