इंग्लैंड दौरे पर गेंद को चमकाने के लिए थोड़े बदले हुए दिशा-निर्देश होंगे : मिचेल स्टार्क

Mitchell Starc
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

ऑस्ट्रेलिया के तेज गेंदबाज मिचेल स्टार्क ने कहा कि इंग्लैंड दौरे पर गेंद को चमकाने के लिए थोड़े बदले हुए दिशा-निर्देश होंगे.

उन्होंने कहा कि इस दौरे पर गेंद को चमकाने के लिए पसीने का इस्तेमाल नहीं करने दिया जाएगा और लार का उपयोग भी प्रतिबंधित है,जिसके कारण यहां कुछ नए दिशा-निर्देश होंगे.

स्टार्क ने कहा,”आप चेहरे, गर्दन या सिर के चारों ओर से पसीने का उपयोग नहीं कर सकते हैं और आप स्पष्ट रूप से लार का उपयोग भी नहीं कर सकते हैं,इसलिए यहां दिशा निर्देश थोड़ा बदले हुए हो सकते हैं.”

बता दें कि कोरोना वायरस के खतरे को देखते हुए आईसीसी ने जून में खेलने के नियमों में अंतरिम बदलावों की घोषणा करते हुए,गेंद पर लार के उपयोग पर प्रतिबंध लगा दिया था. हालांकि, पसीने के उपयोग पर कोई प्रतिबंध नहीं था और अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट को फिर से शुरू करने के बाद से ही इसका पालन किया गया है.

स्टार्क सफेद गेंद के क्रिकेट में प्रतिबंध को “एक बड़ा मुद्दा” नहीं मानते हैं. उन्होंने कहा,”हमें पता चलेगा कि अभ्यास खेलों में यह क्या है और क्या हमें इसके आसपास किसी भी योजना को फिर से बनाने की आवश्यकता है. हम ऑस्ट्रेलिया में पसीना या लार का उपयोग नहीं कर पाए हैं, गेंदबाजों के साथ कुछ स्थानों पर पसीने का उपयोग करने की अनुमति देने का फैसला थोड़ा उदार था.हालांकि मुझे नहीं लगता कि यह सफेद गेंद वाले क्रिकेट में बहुत बड़ा मुद्दा होगा.

बता दें कि ऑस्ट्रेलिया को इंग्लैंड में तीन एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय और इतने ही टी20 अंतरराष्ट्रीय जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में खेलने हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/सुनील