देश ने संविधान की व्यवस्था को स्वीकारा और लोकतंत्र को आगे बढ़ाया- कटारिया

  • कोर्ट के फैसले से अयोब्य होने के बाद पूरे हिन्दुस्तान को जेल खाना बना दिया
  • कटारिया शुक्रवार को विधानसभा में संविधान पर चर्चा के लिए बुलाये गए विशेष सत्र में बोल रहे थे

नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि दुनिया में ऐसा कोई देश नहीं जिसमें इतने चुनाव हुए, सरकारें आईं चली गईं. एक मिनट में अटल बिहारी जी एक वोट से हार कर त्याग पत्र देकर चले जाते हैं. इंदिरा गांधी और उनका लड़का भी चुनाव हारा था लेकिन संविधान की व्यवस्था स्वीकार कर लोकतंत्र को आगे बढ़ाने का काम किया.

कटारिया शुक्रवार को विधानसभा में संविधान पर चर्चा के लिए बुलाये गए विशेष सत्र में बोल रहे थे. उन्होंने कहा कि जब 1971 के युद्ध में हमने पाकिस्तान बनाया तो सदन के अंदर अटल बिहारी वाजपेयी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को दुर्गा के रूप में सदन में सम्मान दिया था. हमने कभी छोटा मन नहीं रखा. उनकी महानता को देखा, लेकिन आपातकाल भी हमने भुगता.

कोर्ट के फैसले से अयोब्य होने के बाद पूरे हिन्दुस्तान को जेल खाना बना दिया. बिना अपराध के 18-18 महिने जेल में डाले रखा. देश की जनता ने उस अमेंडमेंट को उठाकर रद्दी की टोकरी में फेंक कर बताया कि देश की जनता महान है.

नेताओं को चोर समझने लगी थी जनता-

मैं ट्रेन से जा रहा था. मैंने धोती और झब्बे के अलावा कुछ पहना नहीं था. एक पांच साल का बच्चा मां की गोद में था, वह मुझे नेता समझकर इशारा करते हुए कह रहा था चोर बैठा है. मैं चोर नहीं था, लेकिन हमारी ड्रेस ने अपने आप को नीचे गिरा दिया और हम जन चर्चा का विषय बन गए. लेकिन इस त्रासदी से देश निकला है.

Trending Tags- Kanishak Kataria | Hindustan | Aaj ka Samachar | Indira Gandhi

हिन्दुस्थान समाचार/ ईश्वर/संदीप

Leave a Reply