बर्खास्त जवान तेज बहादुर पहुंचे सुप्रीम कोर्ट, खारिज हुआ था उनका नामांकन पत्र
  • तेज बहादुर ने अपनी उम्मीदवारी रद्द किए जाने की चुनौती दी है
  • समाजवादी पार्टी (SP) के टिकट पर चुनावी मैदान में उतरे तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द कर दिया गया था

नई दिल्ली : वाराणसी सीट से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) के खिलाफ अपनी उम्मीदवारी का पर्चा खारिज होने के बाद बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव (Tej Bahadur Yadav) सोमवार को सुप्रीम कोर्ट पहुंचे. तेज बहादुर ने अपनी उम्मीदवारी रद्द किए जाने की चुनौती दी है.

समाजवादी पार्टी (SP) के टिकट पर चुनावी मैदान में उतरे तेज बहादुर यादव का नामांकन रद्द कर दिया गया था. चुनाव आयोग ने जरूरी दस्तावेजों के ना होने पर उनका नामांकन खारिज कर दिया. वरिष्ठ वकील प्रशांत भूषण तेज बहादुर का केस लड़ रहे हैं

बता दें 2016 में तेज बहादुर ने बीएसएफ के खाने को एक विडीयो जारी कर उजागर किया था. और उस खाने को खराब गुणवत्ता का खाना बताया था. जिसके बाद उन्हे सेना से बरखास्त कर दिया गया था. उसी के बाद वे सुर्खियों में आए थे.

इसके बाद उन्होने चुनाव लड़ने का मन बनाया था और प्रधानमंत्री के खिलाफ निर्दलीय नामांकन पत्र दाखिल करने का इरादा जताया. सपा ने तेज बहादुर से पहले शालिनी यादव को वाराणसी सीट के लिए अपना उम्मदीवार घोषित किया था

लेकिन शालिनी की जगह सपा के टिकट पर तेज बहादुर ने अपना नामांकन दाखिल किया. पर्चा भरने के बाद रिटर्निंग ऑफिसर ने जरूरी दस्तावेजों के अभाव में तेज बहादुर का नामांकन रद्द कर दिया था.

नामांकन खारिज करते हुए रिटर्निंग ऑफिसर सुरेंद्र सिंह ने बताया की श्री तेज बहादुर ने कहा है कि सरकारी सेवा से उन्हें 19 अप्रैल 2017 को बर्खास्त किया गया. उनकी बर्खास्तगी के पांच साल पूरे नहीं हुए हैं. उनके पास यह प्रमाणपत्र भी नहीं है

जो यह कहे कि भ्रष्टाचार अथवा देश सेवा के प्रति अनिष्ठा रखने के चलते उन्हें सेवा से बर्खास्त नहीं किया गया. वह एक मई 2019 तक इस तरह का कोई भी प्रमाणपत्र पेश नहीं कर पाए हैं इसलिए उनका नामांकन खारिज किया जाता है.

तेज बहादुर ने पर्चा खारिज होने के बाद कहा है कि उन्होंने सभी जरूरी कागजात जमा कराए हैं और साजिश के तहत उन्हें नोटिस मिला है. लेकिन यह सब मुझे चुनाव लड़ने से रोकने के लिए किया जा रहा है. यह मेरे खिलाफ एक साजिश है. मोदी जी डर गए हैं और यह सोच-समझकर किया गया है.

वाराणसी में लोकसभा के अंतिम चरण में 19 मई को वोट डाले जाएंगे. कांग्रेस ने अपने पुराने चेहरे पर भरोसा जताते हुए यहां से अजय राय को टिकट दिया है. पिछले लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी ने आम आदमी पार्टी के उम्मीदवार अरविंद केजरीवाल को हराया था.

अपना नामांकन भरने के बाद तेज बहादुर ने मीडियाकर्मियों से कहा था कि वह अपने चुनाव-प्रचार के दौरान सुरक्षा बलों में कथित रूप से व्याप्त भ्रष्टाचार के मुद्दे को उठाएंगे. सरकार पर निशाना साधते हुए यादव ने कहा कि उन्हें सच बोलने की वजह से उन्हें सेवा से बर्खास्त किया गया.

यहां तक कि एम.एम.जोशी के साथ बनाई गई संसदीय समिति व इसके सदस्यों ने उनके पक्ष में रिपोर्ट दी. इसके बावजूद उन्हें नौकरी से बर्खास्त किया गया.

Trending Tags- News today, Aaj ka samachar, Lok sabha election 2019, Lok sabha election news updates, Election 2019, Tej bahadur yadav news, General election 2019, Election news in hindi, BSF tej bahadur yadav

%d bloggers like this: