महंगी होगी चाय: लॉकडाउन और बारिश से उत्पादन में 40 प्रतिशत की गिरावट

Chai | international news in hindi
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली, 23 जुलाई (हि.स.). भारतीय चाय संघ (आईटीए) के अनुमान के मुताबिक अप्रैल और मई में कोरोना वायरस की वजह से देशव्यापी लागू लॉकडाउन तथा आसाम-बंगाल में अनियमित बारिश से चाय की फसल को काफी नुकसान पहुंचा है. उद्योग विशेषज्ञों का कहना है कि इससे चाय के उत्पादन में  बड़ी गिरावट आई है.

आईटीए के सचिव अरिजीत रहा ने कहा कि  साल 2020 के जनवरी से जून के दौरान पिछले साल की समान अवधि की तुलना में चाय का उत्पादन 40 प्रतिशत घटा है. सचिव राहा ने कहा कि हम जुलाई के आंकड़ों का इंतजार कर रहे हैं. ये अगले कुछ दिन में आएंगे. उन्होंने ने कहा कि अलीपुरद्वार और जलपाईगुड़ी में श्रमबल की कमी की वजह से हरी पत्तियों की तुड़ाई काफी कम रही है जिससे उत्पादन प्रभावित हुआ है.

सीटीटीए के चेयरमैन विजय जगन्नाथ ने कहा, ‘‘पिछले साल की तुलना में नीलामी में चाय के दाम मजबूत और ऊंचे हैं.” उन्होंने कहा कि उद्योग को करीब 20 करोड़ किलोग्राम फसल नुकसान का अनुमान है. उन्होंने कहा कि घरेलू बाजार में अच्छी गुणवत्ता वाली चाय के दाम करीब 100 रुपये प्रति किलोग्राम चढ़ गए हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/गोविंद