आमरण अनशन पर बैठीं स्वाति मालीवाल का वजन 6 किलोग्राम घटा

बच्चों के साथ दुष्कर्म करने वाले दोषियों को छह महीने में फांसी की सजा देने की मांग कर रहीं और राजघाट पर आमरण अनशन पर बैठीं दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल के स्वास्थ्य में लगातार गिरावट आ रही है. 

अनशन के नौवें दिन डॉक्टर्स ने उनके स्वास्थ्य की जांच की. इस अवधि में उनका वजन नौ किलोग्राम घट गया है. स्वाति मालीवाल ने केंद्र और दिल्ली सरकार को नोटिस जारी कर फास्ट ट्रैक कोर्ट की जानकारी मांगी है. स्वाति इससे पहले 10 दिन तक अनशन कर चुकी हैं. 

स्वामी दीपांकर ने उनसे मुलाकात अपना समर्थन दिया है. युवाओं ने कनॉट प्लेस में मानव शृंखला बनाकर स्वाति मालीवाल को समर्थन दिया है. मंगलवार को दिल्ली में 100 स्थानों पर स्वाति के समर्थन में महिलाओं ने कैंडल मार्च निकाला था. 

स्वाति ने दिल्ली सरकार के कानून मंत्रालय और केंद्र सरकार के मुख्य सचिव  को नोटिस जारी कर फास्ट ट्रैक कोर्ट पर जानकारी मांगी है. उन्होंने पूछा है कि  कितने कोर्ट सरकार ने पास किए गए और कितनों को शुरू करने की दिशा में काम हो रहा है. उन्होंने 13 दिसम्बर तक यह जानकारी उपलब्ध कराने को कहा है.  

मां का दर्द 

इस मुद्दे पर स्वाति की मां संगीता मालीवाल ने बुधवार को कहा कि सरकार की चुप्पी दिल को तोड़ने वाली है. स्वाति उनकी ही नहीं पूरे देश की बेटी है. उसने अपना जीवन देशसेवा को समर्पित कर दिया है. वह अपने लिए कुछ नहीं मांग रही. वह चाहती है कि कल किसी की बेटी के साथ गलत न हो. इस मुद्दे को राजनीतिक चश्मे से न देखा जाए. दलगत राजनीति से ऊपर उठकर उसकी मांग मानी जाए.

कल संसद मार्च की घोषणा

स्वाति मालीवाल की टीम के एक सदस्य ने कहा है कि गुरुवार को राजघाट से संसद भवन तक पैदल मार्च किया जाएगा. इस मार्च में हजारों युवा हिस्सा लेंगे. यह मार्च दोपहर 12 बजे राजघाट से शुरू होगा.  

हिन्दुस्थान समाचार/अश्वनी शर्मा

Leave a Reply

%d bloggers like this: