मुजफ्फरपुर में बच्चों की मौत पर सुनवाई को राजी सुप्रीम कोर्ट

नई दिल्ली, 19 जून. सुप्रीम कोर्ट बिहार के मुजफ्फरपुर में इन्सेफेलाइटिस से 100 से ज्यादा बच्‍चों की मौत को लेकर दायर याचिका पर सुनवाई के लिए तैयार हो गया है. सुप्रीम कोर्ट इस याचिका पर 24 जून को सुनवाई करेगा.

याचिका सुप्रीम कोर्ट के वकील मनोहर प्रताप और सनप्रीत सिंह अजनामी ने दायर किया है. याचिका में राज्य सरकार पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए कोर्ट के दखल की मांग की गई है.

याचिका में कहा गया है कि कोर्ट सरकार को 500 आईसीयू का इंतजाम करने, 100 मोबाइल आईसीयू को मुजफ्फरपुर भेजे जाने, पर्याप्त संख्या में डॉक्टर उपलब्ध कराने के लिए दिशा-निर्देश जारी करे.

याचिका में मृत बच्चों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की गई है. याचिका दायर करते समय तक मुजफ्फरपुर के एसकेएमसीएच अस्पताल में 108 मौतों की पुष्टि हो चुकी है.

75 नए मरीज हुए भर्ती
पिछले 24 घंटों में ही मेडिकल कॉलेज में 75 नए मरीजों के भर्ती होने की सूचना है. वहीं इस बीमारी से हो रही मौतों का मामला सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच चुका है.

दो वकीलों ने जनहित याचिका दायर कर मांग की है कि इस बीमारी से ग्रस्त क्षेत्रों में 500 मोबाइल आईसीयू का निर्माण किया जाए और मेडिकल एक्सपर्ट की टीम भी यहां भेजी जाए. ताकि पीडि़तों को समय पर मदद मिल सके.

नीतीश का हुआ विरोध
वहीं चमकी बुखार के कहर के बीच ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इनसेफेलाइटिस का कहर झेल रहे मुजफ्फरपुर का दौरा किया.

मुख्यमंत्री जैसे ही यहां पहुंचे लोगों ने उनका विरोध शुरू कर दिया. लोगों ने नीतीश के विरोध में प्रदर्शन किया. दरअसल कल नीतीश कुमार और उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी एसकेएमसीएच पहुंचे थे.

अस्पताल में खराब इलाज और सुविधाओं का आभाव झेल रहे लोगों ने दोनों का विरोध किया. लोगों ने नीतीश वापस जाओ के नारे लगाए.

Leave a Comment