TMC
(FILE PHOTO)

कोलकाता. अरबों रुपये के चिटफंड घोटाला मामले में साक्ष्यों को मिटाने के आरोपित कोलकाता पूर्व पुलिस आयुक्त राजीव कुमार की गिरफ्तारी पर लगी रोक को सुप्रीम कोर्ट ने हटा दिया है.

इसे लेकर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सोमेन मित्रा और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने अलग-अलग प्रतिक्रिया दी है. सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के खिलाफ राहुल गांधी ने ममता बनर्जी का साथ दिया है और कहा कि ममता बनर्जी को परेशान करने की कोशिश की जा रही है.

दूसरी तरफ प्रदेश कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा है कि सुप्रीम कोर्ट का फैसला ये साबित करने वाला है कि अरबों रुपए के शारदा चिटफंड घोटाले से ममता बनर्जी का व्यक्तिगत स्वार्थ जुड़ा हुआ था.

सोमेन मित्रा ने शुक्रवार को इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि जिस तरह से राजीव कुमार की गिरफ्तारी पर लगी रोक हटाई गई है. उससे साफ हो गया है कि वो दोषी हैं. ऐसे में ममता बनर्जी उनके घर क्यों गई थी. क्यों उनके लिए धरने पर बैठी थी, इसका खुलासा होना चाहिए.

इसका मतलब है कि ममता का कोई व्यक्तिगत स्वार्थ इससे जुड़ा हुआ है. वरिष्ठ कांग्रेस नेता और राज्यसभा सांसद प्रदीप भट्टाचार्य ने भी सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया. हालांकि ममता के पक्ष में खड़े राहुल गांधी का बचाव करते हुए उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने ये नहीं कहा कि सारदा का रुपया खाने वालों को छोड़ा जाए.

उन्होंने राज्य सरकारों के साथ केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के रवैए की निंदा की है. शुक्रवार को कोलकाता पहुंची कांग्रेस की केंद्रीय नेत्री सुष्मिता देव ने विधान भवन स्थित प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में पत्रकारों से बात की. उन्होंने सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया और कहा जिन लोगों ने भी सारदा घोटाले में भूमिका निभाई हैं उनके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.

हिन्दुस्थान समाचार/ओम प्रकाश