सन फार्मा का चीन से लाइसेंसिंग समझौता और ल्युपिन को अमेरिका के एफडीए से मिली मंजूरी
  • सन फार्मा के शेयर्स में गुरुवार को 3.6 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है
  • कंपनी ल्युपिन को अमेरिका के एफडीए विभाग से टैबलेट्स के लिए मंजूरी मिल गई है

नई दिल्ली.फार्मास्युटिकल्स कंपनी सन फार्मा और ल्युपिन के लिए यह सप्ताह बेहतर नतीजे लेकर आया है. सन फार्मा के शेयर्स में जहां गुरुवार को 3.6 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है, तो वहीं इसकी सहायक कंपनी के साथ चाइना मेडिकल सिस्टम ने लाइसेंसिंग समझौता किया है. दूसरी दिग्गज कंपनी ल्युपिन को अमेरिका के एफडीए विभाग से टैबलेट्स के लिए मंजूरी मिल गई है.

कंपनी के साथ लाइसेंसिंग समझौता-

सन फार्मास्युटिकल्स इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने गुरुवार, 27 जून को सूचित किया है कि कंपनी की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनियों में से एक कंपनी ने चीन में तीलड्राकीजूमाब (Tildrakizumab) टैबलेट के विकास और व्यावसायीकरण के लिए चाइना मेडिकल सिस्टम होल्डिंग्स लिमिटेड (सीएमएस) की सहायक कंपनी के साथ लाइसेंसिंग समझौता किया है.

लाइसेंस समझौते के लिए शर्ते-

इस करार के बाद कंपनी चीन में सोरायसिस और सोरियाटिक गठिया के लिए जैविक उत्पाद को डेवलप कर सकेगी. यह उत्पाद चीन सहित हांगकांग, मकाओ और ताइवान के कुछ विशेष प्रशासनिक क्षेत्र में वैध माने जाएंगे.लाइसेंस समझौते की शर्तों के तहत, सीएमएस सन फार्मा को शुरुआती अग्रिम भुगतान करेगा.

इसके अलावा शुद्ध बिक्री पर रॉयल्टी समेत अन्य रकम का भुगतान करेगा. चीन में उत्पाद की वैधता समझौते की तिथि के प्रारंभिक कार्यकाल से 15 साल तक होगा.

बिक्री को मिली मंजूरी-

फार्मास्युटिकल कंपनी ल्युपिन की ओर से बताया गया है कि कंपनी को यूएस एफडीए की ओर से टैबलेट्स वितरण व बिक्री के लिए मंजूरी मिल गई है. ल्युपिन लिमिटेड ने बाजार नियामक को सूचित किया है कि कंपनी को यूएस एफडीए से मिरेबेग्रोन एक्सटेंडेड रिलीज (ईआर) टैबलेट्स, 25 मिलीग्राम और 50 मिलीग्राम के जेनेरिक संस्करण टैबलेट्स के वितरण व बिक्री की मंजूरी प्राप्त हुई है. यह दवाई ब्लैडर व यूरीनरी सिस्टम से संबंधित विकारों के निदान में उपयोग में लायी जाती हैं.

हिन्दुस्थान समाचार/ राधेश्याम

Trending tags – Economy news | Business news | National news |Sun Pharma | Aaj ka Samachar

Leave a Comment

%d bloggers like this: