SUNNY PAWAR
Sunny Pawar

हुनर कभी अमीर-गरीब का फर्क नहीं समझता और कामयाबी कभी उम्र नहीं देखती. इस बात को साबित किया है मुंबई के रहने वाले 11 साल के सनी पवार ने.

जिन्होंने 19th  New York film festival में बेस्ट चाइड आर्टिस्ट का अवॉर्ड जीता. इतने बड़े मंच पर इंटरनेशनल स्टार्स के बीच अवॉर्ड पाना किसी सपने जैसा है.जिसे सनी ने सिर्फ 11 साल की उम्र में पूरा कर लिया. सनी को फिल्म चिप्पा के लिए ये अवॉर्ड मिला.

चिप्पा को सफदर रहमान ने लिखा और डायरेक्ट किया है. फिल्म की कहानी की बात करें तो ये फिल्म एक ऐसे बच्चे की कहानी है जो अपने माता-पिता के साथ सड़क पर रहता है. लेकिन उसके सपने और इच्छाएं उसकी उम्र से भी बढ़े हैं.

इस फिल्म में दिखाया गया है कि एक बच्चा अपने माता-पिता के साथ सोने के बाद अपने पिता का एक लेटर लेकर निकल पड़ता है. बच्चा जाना चाहता है कि इस लेटर में लिखा क्या है. ऐसा इसलिए क्योंकि लेटर उर्दू में लिखा है और बच्चा उर्दू नहीं जानता. रात भर घूमते हुए बच्चे की मुलाकात अलग-अलग लोगों से होती है.

अखबार वाला, बूढ़ा आदमी…अमीर शराबी….बैंड वाले….फिल्म के अंदर बच्चे की मासूमियत के जरिए उसके सपनों को दिखाने की कोशिश की गई है…

सनी ने अपनी बेहतरीन एक्टिंग से राइटर के शब्दों और डायरेक्शन में जान डाली है….वैसे सनी इससे पहले 89 th oscar awards का हिस्सा भी बन चुके हैं. सनी ने आस्ट्रेलियन डायरेक्टर गर्थ डेविस के साथ फिल्म lion में काम किया था. जिसे ऑस्कर में 6 नोमिनेशन मिले थे.

अवॉर्ड का श्रेय सनी ने अपने माता पिता को दिया है. सनी ने अपनी मीडिया इंटरव्यू में कहा कि एक आर्टिस्ट होने के नाते वो हमेशा यही चाहते है कि उनके माता-पिता उन पर गर्व करें…साथ ही सनी ने बॉलीवुड और हॉलीवुड फिल्मों में काम करने की इच्छा भी जताई. 

इससे पहले इस साल भारत के यूपी की लड़की स्नेहा की लाइफ पर बेस्ड डॉक्यूमंट्री पीरियड एंड ऑफ सेंटस को ऑस्कर में बेस्ट डाक्यूमेंटी का अवॉर्ड मिला था.