EVM मशीन पर नही होगा Sunny Deol का नाम, चुनाव आयोग के पास गई BJP

गुरदासपुर लोकसभा सीट से BJP के बैनर तले चुनाव लड़ रहे अभिनेता सनी देओल का नाम ईवीएम मशीन पर नही होगा. इस दुविधा के चलते बीजेपी चुनाव आयोग के पास गई है. सनी देओल ने अपना नामांकन अजय सिंह धर्मेन्द्र देओल के नाम से किया है और वोटर आईडी कार्ड पर भी उनका यही नाम अंकित है.

भाजपा नेताओं का कहना है कि जनता सनी देओल के असली नाम से परिचित नही है. वोटर को अजय सिंह नाम से दुविधा हो सकती है. बीजेपी को लगता है कि कहीं वोटर वोट देते समय धोखा ना खा जाए इसलिए ईवीएम मशीन पर सनी देओल नाम ही अंकित किया जाना चाहिए. भाजपा ने ईवीएम पर सनी देओल नाम लिखवाने के लिए चुनाव आयोग से अपील की है.

भाजपा नेताओं ने चुनाव आयोग से इस मामले में चर्चा भी की है. बीजेपी ने आयोग से निवेदन किया कि अभिनेता से नेता बने सनी को उनके फैंस अजय सिंह धर्मेन्द्र देओल के नाम से नही जानते हैं. वो अपने चाहने वालों में सनी के नाम से जाने जाते हैं. चुनाव आयोग से इस बाबत भाजपा ने आग्रह भी किया है कि अगर संभव हो तो उनका नाम सनी देओल ही ईवीएम पर दर्ज किया जाए.

क्या है मामला-

नामांकन पत्र के हलफनामे में सनी देओल से सारी जानकारी अजय सिंह के नाम से दी है. नामांकन में सनी ने कहीं भी अपने फिल्मी नाम का जिक्र नही किया है. पर बीजेपी ने चुनाव के लिए उपयोग होने वाले बैनर, पर्चों और होर्डिग्स में सनी देओल नाम का इस्तेमाल किया है.

बहुत से युवा और बुजुर्ग अजय सिंह नाम से परिचित ही नही हैं और बहुत से मतदाता सनी देओल की तस्वीर से भी परिचित नही हैं. ऐसे में उनको सनी की पहचान करने में परेशानी हो सकती है.

चुनाव आयोग के नियम कहते हैं कि कोई भी उम्मीदवार जिस नाम से नामांकन दाखिल करेगा और जो नाम वोटर आईडी कार्ड में होगा वही नाम ईवीएम मशीन पर दर्ज किया जाएगा. ऐसे में बीजेपी के लिए यह बड़ी मुसीबत है कि वो इस मामले से कैसे निपटे.

चुनाव आयोग ने कहा है कि जो नाम वोटर आईडी पर होगा वही नाम ईवीएम पर लिखा जाएगा. कानूनी प्रक्रिया के बाद ही नाम में परिवर्तन किया जा सकता है. अब बीजेपी की दलील पर चुनाव आयोग क्या कदम उठाता है. यह चुनाव आयोग ही तय करेगा.


मधुकर बाजपेयी / Madhukar Vajpayee