जानना चाहता था मौत का दर्द, इस नामी विश्वविद्यालय के छात्र ने की खुदकुशी

जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) के एमए सेकेंड ईयर के छात्र एक स्टडी रूम में छत के पंखे से लटककर आत्महत्या कर ली. रिषि जोशुआ नाम के छात्र ने आत्म हत्या से पहले एक कथित सुसाइड नोट अंग्रेजी के अपने प्रोफेसर को ईमेल किया.

rishi joshua
rishi joshua

पुलिस ने बताया की जोशुआ ने अपने प्रोफेसर को भेजे ई-मेल में कहा, ‘कुछ समय से मैं मृत्यु के समय की स्थिति को महसूस करना चाह रहा हूं. जब तक आप यह ई-मेल पढ़ेंगे तब तक मैं भौतिक अवस्था में नहीं रहूंगा.

मेरे परिजनों का ध्यान रखना.’ जोशुआ माही मांडवी छात्रावास में रहता था. पुलिस को घटना के बारे में माही छात्रावास के वार्डन ने सुबह करीब साढ़े ग्यारह बजे फोन करके घटना की जानकारी दी.

पुलिस डीसीपी दक्षिण पश्चिम देवेंद्र आर्य ने कहा की फोन कॉल करने वाले माही मांडवी छात्रावास के प्रभारी से सम्पर्क करने के बाद पुलिस विश्वविद्यालय के अंदर पहुंची. विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ लैंग्वेजेज पहुंचने के बाद पुलिस ने पाया कि लाइब्रेरी रूम के बेसमेंट में कमरा अंदर से बंद था और दरवाजा खटखटाने पर कोई जवाब नहीं मिला.

डीसीपी ने बताया की हमने खिड़की से देखा कि छत के पंखे से एक शव लटका हुआ है. दरवाजा खोला गया और केबल काटकर शव को नीचे उतारा गया. उन्होंने कहा कि पुलिस की क्राइम ब्रांच की एक टीम मौके पर पहुंची और कुछ सबूत इकट्ठा कर जरूरी जांच की गई.

आर्य ने बताया कि शव को सफदरजंग अस्पताल ले जाया गया है. मृतक छात्र के परिजनों को सुचना दे दी गई है और जोशुआ के रिश्तेदार मैथ्यू वर्गीज विश्वविद्यालय पहुंच गए हैं.

पुलिस के मुताबिक प्रारंभिक जांच में पता चला है की जोशुआ का कुछ इलाज चल रहा था. उसने एक सुसाइड नोट अपने अंग्रेजी के एक प्रोफेसर को मेल किया. प्रारंभिक जांच के अनुसार इसमें किसी तरह के किसी षड्यंत्र का संदेह नहीं है. आगे की जांच जारी है.’

पुलिस को शक है कि छात्र कुछ समय से परेशान था इसलिए पुलिस इस बात की जांच कर रही है की जोशुआ का कोई प्रेम संबंध था या कुछ और.

पुलिस ने कहा कि उसके माता-पिता शनिवार को दिल्ली पहुंच जाएंगे जिसके बाद शव का पोस्टमॉर्टम किया जाएगा. जवाहर लाल नेहरु विश्वविद्यालय ने एक बयान जारी कर इस घटना पर गहरा दुख व्यक्त किया है. जेएनयू छात्रसंघ ने भी घटना पर दुख जताया है.

%d bloggers like this: