लक्ष्मी अग्रवाल की बायोपिक फिल्म क्यों है खास

आज एसिड अटैक सर्वाइवर लक्ष्मी अग्रवाल पर बन रही फिल्म छपाक का फर्स्ट लुक रिलीज किया गया. फिल्म में लक्ष्मी का रोल दीपिका पादुकोण प्ले कर रही है. सोशल मीडिया में छपाक का फर्स्ट लुक काफी पसंद किया जा रहा है.

लेकिन क्या आप जानते है लक्ष्मी अग्रवाल पर ही क्यों बन रही है बायोपिक..आखिर ऐसा क्या हुआ था जिसने एक आदमी को 15 साल की लक्ष्मी पर एक अधेड़ उम्र के आदमी ने एसिड फेंका और उसके बाद कैसे लक्ष्मी ने संघर्ष किया.

साल 2005 में लक्ष्मी अग्रवाल पर एसिड अटैक हुआ था उस समय लक्ष्मी सिर्फ 15 साल की थी. 32 साल का नईम खान लक्ष्मी को दिल ही दिल में चाहता था और शादी करना चाहता था.  एक 15 साल की बच्ची अपनी दोगुनी उम्र के आदमी से शादी करने के लिए कैसे हां कर सकती है. लक्ष्मी ने नईम का प्रपोजल ठुकरा दिया. नईम खान उस ना को बर्दाश्त नहीं कर पाया और उसने लक्ष्मी पर एसिड अटैक करवाया. जिस समय लक्ष्मी पर एसिड अटैक हुआ उस समय वो बस स्टॉप पर खड़ी थी.

जहां बहुत से लोग इन हादसों के बाद जिंदगी से हार मान जाते है वहीं लक्ष्मी ने अपने साथ हुए अन्याय के खिलाफ आवाज उठाई. इस हमले से देश में एसिड अटैक के खिलाफ कोई कानून नहीं था जिस वजह से गुनेहगार अक्सर बच जाते थे. लक्ष्मी ने एसिड की खुली बिक्री पर अंकुश लगाने के लिए 27 हजार साइन वाली याचिका दायर की और साथ ही सुप्रीम कोर्ट में एसिड हमलों की वकालत की.

इसके अलावा लक्ष्मी ने स्टॉप सेल एसिड और एक टीवी होस्ट के तौर पर अपना करियर शुरू किया जहां वो एसिड पीड़िताओं के अधिकारों के लिए बोलती है. लक्ष्मी अग्रवाल को अंतराष्ट्रीय महिला सश्क्तिकरण अवॉर्ड 2019 भी मिला है.

वहीं फिल्म छपाक में लीड रोल प्ले कर रही एक्ट्रेस दीपिका पादुकोण भी लक्ष्मी अग्रवाल की बायोपिक कर काफी खुश है. दीपिका का कहना है कि ये फिल्म उनकी जिंदगी में हमेशा अहम रहेगी.