विधानसभा अध्यक्ष एवं मुख्यमंत्री ने दी दिंवगत नेताओ को श्रद्धांजलि

रायपुर. छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज अविभाजित मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व सदस्य स्व. संतोष कुमार अग्रवाल, छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदस्य स्व. श्री भीमा मंडावी और अविभाजित मध्यप्रदेश तथा छत्तीसगढ़ विधानसभा के पूर्व सदस्य स्व. ठाकुर बलराम सिंह के निधन पर श्रद्धांजलि अर्पित की गई.

इसी तरह सदन के सदस्यों ने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की माता स्व. श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल और नक्सल हिंसा में शहीद जवानों को भी श्रद्धांजलि दी. दिवंगतों के सम्मान में सदन ने दो मिनट का मौन रखा गया. इसके बाद विधानसभा की कार्रवाई 15 जुलाई को पूर्वान्ह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई.

विधानसभा अध्यक्ष चरणदास महंत ने तीनों दिवंगतों का जीवन परिचय दिया. उन्होंने कहा कि स्वर्गीय संतोष कुमार अग्रवाल महासमुंद विधानसभा क्षेत्र से मध्यप्रदेश विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए थे. उनकी धार्मिक और सामाजिक क्षेत्रों में गहरी रूचि थी.

उनके निधन से हमने एक वरिष्ठ राजनेता और समाजसेवी को हमेशा के लिए खो दिया है. श्री महंत ने कहा कि स्व. भीमा मंडावी मृदुभाषी, सहज, सरल व्यक्तित्व के धनी थे. अपने क्षेत्र के विकास के लिए वे लगातार प्रयासरत रहे.

ग्राम पंचायत सचिव के रूप में राजनीतिक क्षेत्र की यात्रा प्रारंभ कर वे दो बार छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए. महंत ने कहा कि स्वर्गीय ठाकुर बलराम सिंह तखतपुर विधानसभा क्षेत्र से अविभाजित मध्यप्रदेश विधानसभा और छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए निर्वाचित हुए। कृषि और ग्रामीण विकास के क्षेत्र में उनकी गहरी रूचि थी. वे महामाया मंदिर रतनपुर ट्रस्ट के आजीवन अध्यक्ष रहे.

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने स्व.श्री संतोष अग्रवाल को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि वे समाजसेवी और धार्मिक क्षेत्र में सक्रिय थे. जनपद अध्यक्ष और विधायक के पद को उन्होंने अपने कार्यो एवं उपलब्धियों से सुशोभित किया.

उन्होंने कहा कि स्वर्गीय भीमा मंडावी केवल आदिवासी समाज में नहीं बल्कि सभी समाजों और वर्गो के बीच काफी लोकप्रिय थे. मिलनसार व्यक्तित्व के धनी श्री मंडावी अपने क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा प्रयासरत रहते थे. उनकी खेलों में भी गहरी रूचि थी और वे स्वयं कबड्डी के अच्छे खिलाड़ी थे. मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वर्गीय ठाकुर बलराम सिंह सहज, सरल और मिलनसार जनप्रतिनिधि थे. अपनी बात को वे बिना लाग लपेट के कहते थे.

इसी तरह नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक, संसदीय कार्य मंत्री रविन्द्र चौबे, पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी तथा अन्य सदस्यों ने भी इसी तरह स्व. संतोष कुमार अग्रवाल, स्व. भीमा मंडावी तथा स्व. ठाकुर बलराम सिंह के साथ-साथ श्रीमती बिंदेश्वरी बघेल को अपनी विनम्र श्रद्धांजलि दी.

हिन्दुस्थान समाचार/केशव

Leave a Reply