उत्तराखंड- केदारधाम में बर्फबारी के बीच हिमाचल में आज निकली धूप

उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश में हो रही बर्फबारी रुकने का नाम नहीं ले रही है. हिमाचल प्रदेश में बर्फबारी का दौर रविवार को भी जारी रहा. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला और अन्य पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी के एक दिन बाद सोमवार को धूप निकली

राज्य के ऊंचे पर्वतीय इलाकों में रात में बर्फबारी होने के बाद क्षेत्र में ठंड और बढ़ गई है. आशंका है 9 जनवरी तक हिमपात से राहत नहीं मिलेगी.

इन सभी दिक्कतों के बावजूद बड़ी संख्या में पर्यटक पहाड़ी इलाकों में पहुंच रहे हैं. वहीं, उत्तराखंड में भी इन दिनों जबरदस्त बर्फबारी हो रही है. केदारनाथ और बद्रीनाथ पूरी तरह से बर्फ से ढक गए हैं.

हिमाचल की राजधानी शिमला में नए साल का पहला हिमपात हुआ और यहां रविवार को रुक रुक कर बर्फ गिरती रही.

बर्फबारी से 5 हाईवे बंद
ऐतिहासिक रिज और माल रोड पर साल की पहली बर्फबारी का सैलानियों और लोगों ने जमकर लुत्फ उठाया. वहीं, बर्फबारी की वजह से लोगों की मुश्किलें भी बढ़ गई हैं. हिमाचल प्रदेश के पांच हाईवे बंद हैं.

इनमें शिमला से रामपुर-एनएच5, ठियोग रोहड़ू हाईवे, मनाली-लेह, कुल्लू-आनी और चंबा-भरमौर हाईवे पर वाहनो की रफ्तार रुक गई है.

चंबा में जहां रविवार को चलती बस पर चट्टान गिर गई. हादसे में आधा दर्जन लोग घायल हो गए. वहीं, शिमला के कोटखाई में बर्फ में एचआरटीसी की बस स्किड हो गई. हिमाचल में बर्फबारी और बारिश की वजह से सौ के करीब रूट और सड़कें प्रभावित हैं.

सैलानी उठा रहे हैं आनंद
बर्फबारी के बीच सैलानी तो आनंद उठा रहे हैं लेकिन शहर की रफ्तार थम गई है. सैलानियों को भी गाड़ी छोड़कर पैदल घूमना पड़ रहा है. सड़कों पर बर्फ की वजह से फिसलन बढ़ गई है. हालत ये है कि कई जगह डेढ़ फीट से ज्यादा बर्फ जमी हुई है. तापमान माइनस में है.

ताजा हिमपात और बारिश से धर्मशाला शहर का न्यूनतम पारा 1.2 डिग्री तक पहुंच गया. शनिवार से रविवार सुबह तक मौसम विभाग ने धर्मशाला में 22.6 मिली मीटर बारिश रिकॉर्ड की. जबकि रविवार सुबह आठ बजे से शाम पांच बजे तक 10.2 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई.

केदारधाम में 3 फीट से ज्यादा बर्फबारी
अब तक केदारधाम में 3 फीट से ज्यादा बर्फबारी हो चुकी है. केदारनाथ में पारा माइनस 4 डिग्री तक पहुंच चुका है. केदारनाथ से बहने वाली सरस्वती और मंदाकिनी नदी के ऊपर भी बर्फ जम चुकी है. चार जनवरी की रात से यहां लगातार बर्फबारी हो रही है.

चोपता में भी जमकर बर्फबारी
रुद्रप्रयाग जिले में मिनी स्वीटजरलैंड के नाम से मशहूर पर्यटक स्थल चोपता में भी जमकर बर्फबारी हुई है. चोपता से पांच किमी पहले से ही मोटरमार्ग बर्फबारी के चलते बंद है. कई सैलानी यहां पैदल चलकर पहुंच रहे हैं.

बर्फबारी की वजह से केदारधाम में जारी पुनर्निमाण के काम में काफी दिक्कत आ रही है. दो दिन से काम रुका पड़ा है. इतनी जबरदस्त ठंड में मजदूर काम नहीं कर पा रहे हैं. मशीनें तक जाम हो गई हैं.

औली में सुबह से बर्फबारी का दौर जारी है जिसके बाद निचले इलाकों में कड़ाके की ठंड पड़ रही है. आज के लिए मौसम विभाग के अलर्ट को देखते हुए सभी जिलों में प्रशासन को अलर्ट रहने को कहा गया है.

12 जनवरी तक बर्फबारी और बारिश का पूर्वनुमान

उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर, पिथौरागढ़ में भारी बर्फबारी की आशंका है. 12 जनवरी तक बर्फबारी और बारिश का पूर्वनुमान हिमाचल प्रदेश में अगले 6 दिन तक मौसम ऐसे ही बदलता रहेगा. मध्य पर्वतीय क्षेत्र और पहाड़ी इलाकों में 12 जनवरी तक बर्फबारी और बारिश का पूर्वनुमान है.

%d bloggers like this: