मौसम ने खाई पलटी, बर्फबारी और बारिश से लौटी ठंड

देहरादून. उत्तराखंड में होली पर मेहरबान रहे मौसम ने बुधवार को फिर पलटी ले ली.मौसम विज्ञान केंद्र का पूर्वानुमान है कि 13 फरवरी तक मौसम खराब रहेगा.राजधानी देहरादून में सुबह से बादल छाए रहे.हल्की बूंदाबांदी हुई है.चमोली जिले के ऊंचाई वाले इलाकों में तड़के बर्फबारी और निचले क्षेत्रों में बारिश होने से सर्दी बढ़ गई है.

बदरीनाथ, हेमकुंड साहिब, फूलों की घाटी, रुद्रनाथ और घांघरिया के साथ ही अन्य ऊंची चोटियों में बर्फ गिरी है.श्रीनगर में बादलों का डेरा है.तेज हवा चल रही है.जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग से लेकर केदारनाथ तक घने बादल छाए हैं.नैनीताल में हल्के बादल हैं.पिथौरागढ़ में हल्के बादलों के साथ धूप खिली है.पंतनगर में बादलों के साथ सूरज की आंख मिचौली जारी है.

आईआईटी के वैज्ञानिकों के मुताबिक हरिद्वार जिले में 12 से 14 मार्च के बीच ओलावृष्टि और गरज के साथ 47 मिलीमीटर बरसात होने की संभावना है.अधिकतम तापमान 22 से 25 और न्यूनतम तापमान आठ से 10 डिग्री सेल्सियस के बीच रहने की संभावना है.आईआईटी के ग्रामीण कृषि मौसम सेवा केंद्र के नोडल अधिकारी प्रो. आशीष पांडेय ने कहा है कि अधिकतम सापेक्षिक आर्द्रता 80-90 और न्यूनतम 40 से 50 फीसद के बीच रहने की संभावना है.

उन्होंने कहा है कि 11 मार्च को उत्तर-पश्चिम और 12-14 मार्च को दक्षिण-पूर्व दिशा से छह से 10 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है.पौड़ी गढ़वाल जिले में 12-14 मार्च के बीच कुल 38 मिलीमीटर बरसात होने की संभावना है.देहरादून जिले में 12-14 मार्च के बीच ओलावृष्टि और गरज के साथ 60 मिलीमीटर बरसात हो सकती है.पांडेय ने सलाह दी है कि किसान 14 मार्च तक सिंचाई, कीटनाशकों के छिड़काव और उर्वरकों के उपयोग से परहेज करें.

हिन्दुस्थान समाचार/मुकुंद

Leave a Reply

%d bloggers like this: