बाढ़ से बिगड़ रहे हालात…25 जिलों के 14 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित

गुवाहाटी. लगातार हो रही बरसात के चलते असम बाढ़ के हालात बेहद खराब होते जा रहे हैं. शनिवार को असम आपदा प्रबंधन विभाग के आंकड़ों के अनुसार राज्य के 25 जिलों के 80 राजस्व सर्किल के 14,06,711 लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं. 

राज्य के 33 जिलों में बाढ़ प्रभावित 25 जिलों में धेमाजी, लखीमपुर, बिश्वनाथ, शोणितपुर, दरंग, बाक्सा, बरपेटा, नलबाड़ी, चिरांग, बंगाईगांव, कोकराझार, धुबड़ी, ग्वालपाड़ा, कामरूप, मोरीगांव, होजाई, नगांव, गोलाघाट, माजुली, जोरहाट, शिवसागर, डिब्रूगढ़, तिनसुकिया, कछार और वेस्ट कार्बी आंग्लांग शामिल हैं. मुख्य रूप से 11 नदियों का जलस्तर कुछ स्थानों पर खतरे के निशान के ऊपर चला गया है. जिसमें ब्रह्मपुत्र नद, बूढ़िदिहिंग, सुवनसिरी, धनसिरी, जिया भराली, कपिली, पुठिमारी, बेकी, बराक, काटाखाल और कुसियारी नदियां कई स्थानों पर खतरे के निशान को पार कर गई हैं.

राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग के आंकड़ों के अनुसार 80 राजस्व सर्किल के 2,168 गांवों में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है. जिसकी वजह से 14,06,711 लोग प्रभावित हुए हैं.

बाढ़ के पानी में कुल 51,752 हेक्टेयर में खड़ी फसल डूब गई है. लोगों को अपने घरों को छोड़कर राहत शिविरों व ऊंचाई वाले स्थानों पर शरण लेने को मजबूर होना पड़ा है. 

प्रशासन ने कुल 234 राहत शिविर स्थापित किए हैं. जबकि राहत सामग्रियों का वितरण करने के लिए कुल 20,047 केंद्र स्थापित किए गए है. बाढ़ के चलते शनिवार को धेमाजी जिले एक व्यक्ति की मौत हुई है. 

रशासन ने कुल 234 राहत शिविर स्थापित किए हैं. जबकि राहत सामग्रियों का वितरण करने के लिए कुल 20,047 केंद्र स्थापित किए गए है. बाढ़ के चलते शनिवार को धेमाजी जिले एक व्यक्ति की मौत हुई है. 

वहीं शुक्रवार को गोलाघाट में बाढ़ के पानी में दो तथा डिमा हसाउ जिले में एक व्यक्ति की मौत भूस्खलन से हुई है. जबकि गत बुधवार को गोलाघाट जिले में एक व धेमाजी जिले में एक व्यक्ति की बाढ़ से तथा कामरूप (मेट्रो) जिले में एक व्यक्ति की भूस्खलन के चलते मौत हुई है. 

अब तक सात लोगों की बाढ़ व भूस्खलन से मौत हुई है. बाढ़ के कारण 5,49,194 बड़े, 2,59,336 छोटे पालतु पशु तथा 5,54,251 पोलेट्री भी प्रभावित हुए हैं. 

बाढ़ में फंसे लोगों को राहत पहुंचाने के लिए एनडीआरएफ व एसडीआरएफ की टीम पूरी मुश्तैदी के साथ लगी हुई है. साथ ही बाढ़ प्रभावित इलाकों में दोनों एजेंसियां राहत सामग्री भी पहुंचाने में जुटी हुई हैं. 

ज्ञात हो कि शनिवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने टेलीफोन पर मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल से राज्य में आई बाढ़ के हालात की जानकारी ली. उन्होंने केंद्र सरकार की ओर से हर संभव मदद का आश्वासन दिया.

हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद

Leave a Comment

%d bloggers like this: