THAILAND की ये राजकुमारी अब उतरेंगी चुनावी मैदान में

थाईलैंड के राजा की बड़ी बहन ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री पद के लिए चुनाव लड़ने की घोषणा कर सबको चौंका दिया है. राजपरिवार के लिए यह अप्रत्याशित कदम है, क्योंकि वह अपनी प्रतिष्ठा को लेकर देश की सक्रिय राजनीति से परहेज करता रहा है. लेकिन राजनीतिक संकट उत्पन्न होने पर राजा हस्तक्षेप करते रहे हैं.

समाचार एजेंसी रॉयटर की रिपोर्ट के मुताबिक, देश की रक्षा चार्ट पार्टी ने उलबोलरत्ना राजकन्या सिरिवधन बर्नवादी (67) को अपना उम्मीदवार बनाया है. यह पार्टी बर्खास्त प्रधानमंत्री थकसिन शिनवात्रा के प्रति निष्ठावान रही है.

राजकुमारी का 24 मार्च को होने वाले चुनाव में मुख्य मुकाबला प्रधानमंत्री प्रयुत चान-ओचा से होगा जो सत्ताधारी मिलिट्री जंता पार्टी के नेता हैं. थाईलैंड में साल 1932 से संविधानिक राजतंत्र है, लेकिन राजपरिवार का अब भी लोगों पर बड़ा प्रभाव है और लाखों लोग आज भी राजा के प्रति निष्ठावान हैं.

हालांकि अभी तक यह स्पष्ट नहीं हो सका है कि राजकुमारी उलबोलरत्ना को चुनाव लड़ने की अनुमति राजा वजीरलोंगकॉर्न से मिली है या नहीं.

राजकुमारी एक पॉप गायिका हैं और करीब 26 वर्षों तक अमेरिका के कैलिफोर्निया में रही हैं. उन्होंने एक अमेरिकी नागरिक से शादी की थी और शाही पदवी छोड़ दिया था. साल 1998 में उनका अपने पति से तलाक हो गया था. इसलिए यह स्पष्ट नहीं है कि उलबोलरत्ना को शाही मानहानि कानून का कवर मिलेगा या नहीं.

राजकुमारी के चुनाव लड़ने से प्रधानमंत्री प्रयुत की राजनीतिक आकांक्षा पर पानी फिर गया है. प्रयुत राजनीतिक सुधार के तहत चुनी हुई सरकार की शक्तियों को सीमित करने में लगे हुए थे. इनके काल में सेना राजशाही के संरक्षक के रूप में अपनी छवि बना रही थी.

हिन्दुस्थान समाचार/कृष्ण

%d bloggers like this: