Parliament Session 2020: क्या लोग भाभी जी के पापड़ खाकर ठीक हो रहे हैं-! -संजय राउत

17
Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp

नई दिल्ली. संसद (Parliament)  के मानसून सत्र के चौथे दिन राज्यसभा में गुरुवार को वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (Corona Virus) को लेकर चर्चा हुई. सदन में कोरोना वायरस को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन पहले ही बयान दे चुके हैं. ऐसे में शिवसेना ने इसे लेकर सरकार पर तंज कसा है.

आज शिवसेना के सांसद संजय राउत ने महाराष्ट्र सरकार का बचाव करते हुए बताया कि प्रदेश में कोरोना से रिकवरी करने वालों की संख्या बढ़ी है. Sanjay Raut ने कहा कि धारावी जैसे बड़े क्षेत्र में हमने काफी हद तक संक्रमण पर काबू पा लिया है. इसके लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी नगर निकाय बीएमसी (BMC) की पीठ थपथपायी है.

शिवसेना (Shivsena) के संजय राउत (Sanjay Raut) ने शून्यकाल में जवाहरलाल नेहरू पोर्ट ट्रस्ट (जेएनपीटी) के निजीकरण का मुद्दा उठाया. उन्होंने कहा कि नोटबंदी व कोविड-19 महामारी के कारण देश की आर्थिक व्यवस्था बुरी तरह चरमरा गई है. हमारी जीडीपी (GDP) और हमारा रिजर्व बैंक भी खस्ताहाल हो गया है.

संजय राउत ने कहा कि हमने कभी नहीं सोचा था कि ऐसी महामारी आएगी. उन्होंने कहा कि जिसके परिवार का कोई सदस्य इस बीमारी से पीड़ित हुआ है, उसका दुख समझा जा सकता है. उन्होंने कहा कि उनकी मां और छोटा भाई भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं और आईसीयू में हैं. उन्होंने कहा कि जनप्रतिनिधियों को जनता के बीच जाने की जरूरत होती ही है. राउत ने इस दौरान केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल के ‘भाभीजी के पापड़’ पर भी तंज कसा.

शिवसेना सांसद ने कहा, ‘मैं सदस्यों से पूछना चाहता हूं कि इतने लोग कैसे ठीक हुए? क्या लोग भाभीजी के पापड़ खा करके ठीक हो गए? यह राजनीतिक लड़ाई नहीं है बल्कि लोगों की जान बचाने की लड़ाई है.

इस तंज पर बीजेपी सांसद ने उन्हें जवाब देते हुए कहा कि कुछ लोग पूछ रहे हैं कि क्या ताली-थाली बजाने से कोरोना खत्म होगा तो मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या लोग इतिहास भूल गए? क्या चरखा चलाने से अंग्रेज चले गए थे.

बता दें कि केंद्रीय मंत्री अर्जुनराम मेघवाल ने जुलाई में एक वीडियो जारी किया था. उस वीडियो में उन्होंने बीकानेर में बने भाभीजी नाम के पापड़ का प्रचार करते हुए दावा किया था कि ये पापड़ कोरोना वायरस के संकमण से बचाने में  कारगर साबित होगा.

गौरतलब है कि राज्यसभा की कार्यवाही के दौरान कई सांसदों ने महाराष्ट्र में बेकाबू कोरोना पर चिंता जताई. उन्होंने इस मसले पर उद्धव सरकार (Uddhav Government) की जमकर आलोचना की. बता दें कि महाराष्ट्र में कोरोना महामारी का कहर थमने का नाम नहीं ले रहा है. महाराष्ट्र में बुधवार को कोरोना संक्रमण के 23,365 नए मामले सामने आए हैं.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh)  पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध पर बृहस्पतिवार को मानसून सत्र के दौरान (Parliament Monsoon Session) राज्यसभा (Rajyasabha) में बयान दे रहे हैं.